IPL में खेलने को सबसे मुश्किल मानते हैं मुरलीधरन


नई दिल्ली (New Delhi) . लंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian Premier League)) में खेलना अपने देश के लिए खेलने से भी कठिन है. मुरलीधरन ने टीम इंडिया के अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के एक शो में यह बात कही. विश्व क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले इस गेंदबाज ने कहा कि आईपीएल (Indian Premier League) में दुनिया भर के शीर्ष खिलाड़ी खेलते हैं, इसलिए इसका स्तर काफी ऊंचा है.

यहां तक कि इसमें बेहतर प्रदर्शन के बाद भी अगला मैच खेलने की गारंटी नहीं रहती है. मुरलीधरन ने कहा, ”अपने देश के लिए खेलते समय आप जानते हैं कि आप अच्छा खेलेंगे तो टीम में जगह बनी रहेगी. आपको गेंदबाजी करने का अवसर मिलेगा, पर आईपीएल (Indian Premier League) में इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि आपने कितना अच्छा खेला है यहां टीम संयोजन के आधार पर अंतिम ग्यारह का चयन होता है. यह आईपीएल (Indian Premier League) का तरीका है और इसे आपको स्वीकार करना ही होता है.”

इस दिग्गज स्पिनर ने कहा, ”मुझे भी यहां बाहर बैठना पड़ा, पर मैं कभी असंतुष्ट नहीं हुआ. यह गेम का हिस्सा है.” साल 2008 से 2015 तक उन्होंने आईपीएल (Indian Premier League) के हर सत्र में खेला. चेन्नई (Chennai) सुपर किंग्स (सीएसके) की ओर से उन्होंने 46 मैचों में 52 विकेट लिए. इस गेंदबाज ने अंतिम सत्र में आरसीबी के लिए साल 2015 में खेला. वहीं दूसरी और अश्विन आईपीएल (Indian Premier League) के 13 वें सत्र में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेलेंगे. वह दो सत्र में किंग्स इलेवन पंजाब (Punjab) के कप्तान भी रहे हैं.

Please share this news