कोरोना के खतरे के चलते खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोच्च: टेनिस महासंघ


लंदन . अंतररष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) ने टोक्यो ओलम्पिक 2020 को कोरोना के खतरे के चलते 2021 तक के लिए स्थगित करने के फैसले का स्वागत कर कहा है कि यह खिलाड़ियों के हित में लिया गया सही फैसला है. आईटीएफ के अध्यक्ष डेविड हेगार्टी ने कहा,विश्व स्वास्थ्य को लेकर स्थिति एक अभूतपूर्व स्थिति में पहुंच गई है जहां सबके हित में बड़ा और सही फैसला लेने की जरूरत है. हालांकि यह फैसला उन लोगों के लिए निराशाजनक हो सकता है जो इन खेलों के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे. लेकिन हम सभी समझते हैं कि मानव जीवन की सुरक्षा और स्वास्थ्य सर्वोच्च है.’

  नोरा फतेही ने बनाया टिकटॉक पर मजेदार विडियो

हेगार्टी ने कहा,आईटीएफ इस फैसले का समर्थन करता है और वह आईओसी और आईपीसी का लगातार समर्थन करता रहेगा ताकि 2021 में सफल ओलम्पिक का आयोजन हो सके. ओलम्पिक के टेनिस इवेंट को 25 जुलाई से दो अगस्त तक और पैरालम्पिक को 25 अगस्त से पांच सितम्बर तक आयोजित होना था. ओलम्पिक स्थगित किये जाने से पहले महिलाओं के डब्ल्यूटीए और पुरुषों के एटीपी टूर ने अपने सभी टूर्नामेंट सात जून तक स्थगित कर दिये थे.

  आदर्श शौचालयों का निर्माण करवाया जा रहा है : पायलट

इन दोनों टेनिस संगठनों के स्थगित मुकाबलों में मैड्रिड और रोम में होने वाली एटीपी/डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट, राबट और स्ट्रासबर्ग में आयोजित होने वाले डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट तथा म्यूनिख, एस्टोरिल, जेनेवा और लियोन में आयोजित होने वाले एटीपी टूर्नामेंट शामिल हैं.

Please share this news