तबलीगी जमात से लिंक, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मोहम्मद शाहिद सस्पेंड


इलाहाबाद . इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मोहम्मद शाहिद विश्विद्यालय से निलंबित किये हैं. सूत्रों के अनुसार प्रोफेसर तबलीगी जमात में शामिल हुए थे. महामारी (Epidemic) के इस दौर में यह जानकारी छुपाने पर उनको पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. प्रयागराज (Prayagraj)जिले के शिवकुटी थाने में प्रोफेसर शाहिद के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. जिला प्रशासन की अधिकृत सूचना मिलने के बाद केंद्रीय सेवा नियमावली के अनुरूप उनके निलंबन की कार्रवाई की गई है. सूत्रों के अनुसार इलाहाबाद विश्वविद्यालय के प्रोफेसर शाहिद और 16 विदेशी जमातियों सहित कुल 30 लोगों को गिरफ्तार किया था.

  स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए होम आइसोलेशन के नये दिशा निर्देश

विदेशियों की गिरफ्तारी फॉरेनर्स (Nurse) एक्ट के तहत दर्ज मामले में की गई थी, जबकि प्रोफेसर शाहिद को जमातियों को चोरी-छिपे शहर में शरण दिलाने के आरोप और महामारी (Epidemic) एक्ट के तहत दर्ज केस में गिरफ्तार किया गया था.दरअसल, पुलिस (Police) की ओर से बार-बार तबलीगी जमात से लौटे जमातियों को सामने आने और क्वारनटीन होने की अपील की जा रही थी. इसके बावजूद प्रयागराज (Prayagraj)में कई जमाती छिपे थे.

  टीका की प्रक्रिया स्वीकार्य नियमों के अनुरूप

इस बाबत पुलिस (Police) ने विदेशी नागरिकों और उनके शरणदाताओं के खिलाफ करैली, शिवकुटी और शाहगंज थाने में दर्ज केस दर्ज किया था. शाहगंज पुलिस (Police) ने 7 विदेशियों समेत 17 को गिरफ्तार किया हैं. इसके अलावा करैली पुलिस (Police) ने 9 विदेशी समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं, शिवकुटी पुलिस (Police) ने प्रोफेसर शाहिद को गिरफ्तार किया है. प्रयागराज (Prayagraj)पुलिस (Police) की ओर से अब तक 30 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

Please share this news