जापान में भूस्खलन और बाढ़ से नर्सिंग होम में घुसा पानी, 20 लोगों की मौत

टोक्यो . जापान में बाढ़ और भूस्खलन के चलते 20 लोगों की जान चली गई है. इस बाढ़ की यह घटना दक्षिणी जापान में घटी है. जापान के दक्षिण में मौजूद क्यूशू द्वीप पर हुई मूसलाधार बारिश के कारण हुए भूस्खलन और बाढ़ से एक नर्सिंग होम में पानी घुस गया, जिसके चलते कम से कम 20 लोगों की मौत हुई है. प्रशासन ने लाखों लोगों को अपना घर खाली करने को कहा है. यहां के कुमामोटो प्रांत में कुमा नदी अपने सामान्य स्तर से भी ऊपर बह रही है.

  महीनों में भी तय नहीं हो पाए सीएए के नियम गृह मंत्रालय ने 3 महीने और मांगे

बाढ़ के चलते करीब एक दर्जन ओल्ड एज होम तहस-नहस हो गए हैं. कुमामोटो में 6,000 हजार से ज्यादा घरों की बिजली गुल हो गई है. प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने 10,000 सैनिकों को बचाव कार्य में तैनात करने का आदेश दिया है. प्रधानमंत्री आबे ने कहा है कि अगले कुछ दिन तक भारी बारिश की आशंका है, ऐसे में लोग ‘अधिक सतर्क’ रहें. सेना के साथ कोस्टगार्ड और फायर ब्रिगेड कर्मचारी बाढ़ से बचाव के लिए चलाए गए अभियान में भाग ले रहे हैं.

  लालकृष्ण आडवाणी से भी मिले थे अमित शाह

क्यूशू द्वीप पर भारी बारिश से कुमामोटो और कगोशिमा प्रांत अधिक प्रभावित हुए हैं. यहां बहुत सारे घरों और भवनों में पानी भर गया है और बहुत सारी गाड़ियां बाढ़ में डूब गई हैं. भूस्खलन की वजह से कई मकान ध्वस्त हो गए. लोग बाढ़ से बचने के लिए मकान की छतों का सहारा ले रहे हैं. कुमामोटो गांव के एक बुजुर्ग ने बताया कि केयर होम में पानी भर जाने के बाद राहत और बचाव दल ने अपना अभियान चलाया. बाढ़ की वजह से शनिवार (Saturday) को 14 लोगों के मारे जाने की खबर है.

Please share this news