कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से इनकार किया


नई दिल्ली (New Delhi) . पाकिस्तान की जेल में जासूसी के आरोप में बंद भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से इनकार कर दिया है.पाकिस्तान ने जाधव को 17 जून को रिव्यू पिटीशन फाइल करने को कहा लेकिन जाधव ने मना कर दिया. पाकिस्तान ने इस बाबत भारतीय उच्चायोग को लिख दिया है और दूसरा काउंसुलर एक्सेस ऑफ़र किया है.

  मौत की अफवाहों के बीच सामने आए सुशांत के फ्लैटमेट सैमुअल, कहा मैं ठीक हूं जिंदा हूं

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में पाकिस्तान के एडिशनल एटॉर्नी जनरल अहमद इरफान ने कहा कि 17 जून को कुलभूषण जाधव को रिव्यू पिटीशन दाखिल करने को कहा गया लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया. वे मर्सी पिटीशन के जरिए आगे बढ़ना चाहते हैं. गौरतलब है कि पाकिस्तान ने जाधव की पहले दायर की गई दया याचिका पर कोई जवाब नहीं दिया है.

  अमेरिका-ब्राजील को पछाड़कर भारत अब शीर्ष पर पहुंचा, एक दिन में सर्वाधिक पॉजिटिव केस

पिछले साल इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस की 16 सदस्यीय बेंच में 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला आने के बाद पाकिस्तान कुलभूषण जाधव के मामले की समीक्षा के लिए बाध्य हुआ है. कुलभूषण जाधव को जासूसी और आतंकवाद के झूठे मामले में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने मौत की सजा दी है.

Please share this news