कोरोना संकट- कारोबारियों को कम ब्याज पर ऋण देगा SBI


नई दिल्ली (New Delhi) . वैश्विक महामारी (Epidemic) नोवल कोरोना (Corona virus) (कोविड-19 (Kovid-19) ) के तेजी से बढ़ते संक्रमण फैलने से रोकने के लिए सरकार (Government) ने कई सुरक्षात्मक तरीके उठाए हैं. जिसमें शहरों को लॉक डाउन करना, ट्रेन, मेट्रो सर्विस बंद, कुछ राज्यों ने अपनी सीमाओं को भी सील कर दिया है. ऐसे में कारोबारियों को नुकसान होने का अनुमान जताया जा रहा है. लिहाजा जिन कारोबारियों को कोरोना (Corona virus) के चलते नुकसान झेलना पड़ा है. उनकी मदद करने के लिए देश के सबसे बड़े बैंक (Bank) भारतीय स्टेट बैंक (Bank) (एसबीआई) ने एक पहल की है.

  गणेश पूजा से पहले कलाकारों को राहत, एक साल के लिए हटाई गई पीओपी पर रोक

बैंक (Bank) ने एक सर्कुलर जारी किया है. इस सर्कुलर के मुताबिक, बैंक (Bank) ने उधार लेने वालों के लिए इमरजेंसी (Emergency) क्रेडिट लाइन खोल दी है. ताकि ग्राहकों को नकदी की कमी को पूरा किया जा सके. इस अतिरिक्त लिक्विडिटी सुविधा कोविड 19 इमरजेंसी (Emergency) क्रेडिट लाइन (कोविड-19 (Kovid-19) इमरर्जेंसी क्रेडिट लाइन- सीईसीएल) में 200 करोड़ तक के फंड दिए जाएंगे और ये फंड 30 जून 2020 तक मौजूद रहेगा. इसके अंतर्गत 12 महीने की अवधि के लिए 7.25 फीसदी की ब्याज दर पर लोन दिया जाएगा.

  अगले 10 दिनों में चलेंगी 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेन, 36 लाख प्रवासी यात्रा करेंगे

इस सर्कुलर में कहा गया है कि बैंक (Bank) के इस कदम से कोरोना प्रभावित कारोबोरियों को राहत मिलेगी. बैंक (Bank) ने कहा है कि यह क्रेडिट लाइन सभी स्टैंडर्ड एकाउंट्स के लिए खुली है, जिन लोगों ने स्पेशल मेंटेन एकाउंट (एसएमए) 1 या 2 के तौर पर वर्गीकृत नहीं किया गया है, वे सभी इस क्रेडिट लाइन का फायदा उठा सकते हैं. बैंक (Bank) ने ये भी कहा कि लोन लेने वाले वर्तमान में मौजूद फंड बेस्ड वर्किंग कैपिटल लिमिट (फंड बेस्ड वर्किंग केपीटल लिमिट-एफबीडब्ल्यूसी) का अधिकतम 10 फीसदी तक अतिरिक्त लोन ले सकते हैं जो 200 करोड़ तक हो सकता है. एक बार में लोन दिया जाएगा. लोन लेने की तारीख से 6 महीने के बाद 6 समान किस्तों में चुकाया जा सकता है. कहा जा रहा है कि कोरोना (Corona virus) के चलते इंडस्ट्री को तगड़ा नुकसान उठाना पड़ा है. ऐसे में बाजार में लिक्विडिटी बनाए रखने के लिए एसबीआई ने ये पहल की है.

Please share this news