दिनदहाडे़ घर में घुस नकाबपोश ने किया बच्चे पर ब्लेड से हमला

घायल हालत में बच्चा सिडकुल स्थित निजी अस्पताल में भर्ती
घटना की वजह का पता नहीं चल पा रहा है, पुलिस (Police) जांच में जुटी

हरिद्वार (Haridwar) , 03 जुलाई. दिनदहाडे़ घर में टीवी देख रहे बच्चे पर नकाबपोश ने ब्लेड से हमला कर घायल कर दिया. बच्चे के चिल्लाने पर नहाने गयी मां और पड़ौसी मौके पर पहंचे. जिन्होंने बच्चे को खून से लथपथ देखते ही उनके होश उड़ गये. घटना से क्षेत्र में हड़कम्प मच गया. घायल को उपचार के लिए सिडकुल स्थित निजी हॉस्पिटल ले जाया गया. जहां पर बच्चे को भर्ती कर पुलिस (Police) कर पुलिस (Police) को सूचित कर दिया. पुलिस (Police) ने मौके पर पहुंचकर बच्चे से घटना की जानकारी लेने के बाद जांच शुरू कर दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार 11 साल का बालक निवासी रावली महदूद ब्रह्मपुरी सिडकुल शुक्रवार (Friday) की सुबह करीब 10 बजे घर पर अकेला टीवी देख रहा था और मां छत पर बने बाथरूम में नहाने के लिए गयी थी. बताया जा रहा है कि जब बच्चा बेडरूम में स्कूल बैग लेने गया, इसी दौरान छत के रास्ते से बेडरूम में घुसे नकाबपोश ने ब्लेड से बच्चे पर हमला कर दिया और नकाबपोश मौके से फरार हो गया. ब्लेड बच्चे के गर्दन और पेट पर लगे हैं. बच्चे के चिल्लाने पर मां और पड़ौसी दौड़ कर मौके पर पहुंचे, तो देखा बच्चा खून से लथपथ पड़ा चिल्ला रहा है. जिसको उपचार के लिए सिडकुल स्थित मेट्रो हॉस्पिटल ले जाया गया. जहां पर घायल को भर्ती कर उपचार शुरू कर दिया.

सूचना पर पुलिस (Police) ने मौके पर पहुंचकर घायल बच्चे से घटना की जानकारी ली. पुलिस (Police) के मुताबिक बच्चे ने बताया कि बेडरूम से स्कूल बैग लेने पहुंचने पर नकाबपोश ने उस पर ब्लेड से हमला कर दिया और भाग गया. पुलिस (Police) ने घायल बच्चे के घर पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया. पुलिस (Police) मामले की जांच की बात कह रही है. लेकिन किसी को यह समझ नहीं आ रहा है कि आखिर नकाबपोश ने बच्चे पर ब्लेड से हमला क्यों किया? यदि चोरी या फिर लूट के इरादे से हमला किया जाता तो घर से समान गायब होता, लेकिन घर से कुछ समान नहीं गया है. पीड़ित परिवार भी किसी से दुश्मनी होने से इंकार कर रहा है. घायल बच्चे का पिता सिडकुल स्थित फैक्ट्री में सुपरवाईजर है. सिडकुल एसओ लखपत सिंह बुटोला के अनुसार एक बच्चे पर नकाबपोश ने ब्लेड से हमला कर घायल कर दिया. जिसका उपचार मेट्रो अस्पताल में चल रहा है. अभी तक परिजनों की ओर से कोई तहरीर नहीं दी गयी है. शिकायत मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा.

Please share this news