Thursday , 24 September 2020

राम मंदिर भूमि पूजन के लिए 136 संतों को निमंत्रण


नई दिल्ली (New Delhi) . अयोध्या में भव्य राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन की तैयारियां अंतिम चरण में है. कई लोग इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए अयोध्या पहुंचने भी लगे हैं. श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के प्रमुख मोहन भागवत मंगलवार (Tuesday) शाम को अयोध्या पहुंच रहे हैं. राय ने यह भी बताया कि भूमि पूजन के लिए 136 संतों को निमंत्रण दिया गया है. एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए चंपत राय ने कहा विश्व हिंदू परिषद के नेता दिनेश चंद सहित हरिद्वार (Haridwar) अखाड़ा के महंत यहां पहुंच चुके हैं.

कल शाम तक सभी आमंत्रित लोग यहां पहुंच जाएंगे. राष्ट्रीय स्यवंसेवक संघ से मोहन भागवत, भैय्या जी जोशी एवं अन्य यहां आएंगे.’ उन्होंने कहा कि संत-महात्मा को मिलाकर पौने दो सौ लोगों को निमंत्रण भेजा गया है. हमने बाबरी मस्जिद के मुद्दई रहे इकबाल अंसारी और फैजाबाद निवासी मोहम्मद शरीफ को भी निमंत्रण भेजा है. मोहम्मद शरीफ लावारिस शवों का उनके धर्मानुसार अंतिम संस्कार करते हैं. चंपत राय ने बताया कि भूमि पूजन के दिन प्रधानमंत्री मोदी की ओर से रामलला पर डाक टिकट भी जारी किया जाएगा. प्रधानमंत्री राम जन्मभूमि में पौधरोपण भी करेंगे.

प्रधानमंत्री के साथ भूमि पूजन समारोह के मंच पर सिर्फ चार और लोग होंगे इनमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ और राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास शामिल होंगे. राय ने भूमि पूजन के दिन रामलला को हरे रंग का वस्त्र पहनाए जाने को इस्लाम से जोड़े जाने पर कड़ी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा कि परंपरा के अनुसार हर दिन रामलला अलग रंग के वस्त्र पहनते हैं. बुधवार (Wednesday) को इसी कड़ी में वह हरे रंग का वस्त्र पहनेंगे. उन्होंने कहा कि हरे रंग पर विवाद पैदा करने वाले महामूर्ख हैं. यह वही लोग हैं जिन्हें पीएम मोदी का इतना भय है कि इन्हें रात में नींद भी नहीं आती.

Please share this news