Wednesday , 28 October 2020

भारत ने कभी नहीं लांघी LAC, चीन कर रहा उकसावे की कार्रवाई: Indian Army


नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख में उकसावे की कार्रवाई से संबंधित चीनी सेना के सभी आरोपों को मंगलवार (Tuesday) को सिरे से खारिज कर दिया. भारतीय सेना ने कहा उसने कभी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पार नहीं की या गोलीबारी जैसे किसी आक्रामक तरीके का इस्तेमाल नहीं किया. पीएलए ने सोमवार (Monday) देर रात आरोप लगाया था कि भारतीय सैनिकों ने एलएसी पार की और पूर्वी लद्दाख में पेगोंग झील के पास चेतावनी देने के लिए खराब तरीके से गोलियां चलाईं. एक बयान में, भारतीय सेना ने कहा कि पीएलए समझौतों का खुलेआम उल्लंघन कर रही है और आक्रामक युक्तियां अपना रही है जबकि सैन्य, कूटनीतिक एवं राजनीतिक स्तर पर बातचीत जारी है.

सेना ने कहा सात सितंबर के ताजा मामले में, पीएलए के सैनिकों ने एलएसी के पास हमारे एक अग्रिम ठिकाने तक आने की कोशिश की और जब हमारे सैनिकों ने उन्हें रोका तो उन्होंने भारतीय सैनिकों को डराने के प्रयास में हवा में कुछ राउंड गोलियां चलाईं. उसने कहा कि गंभीर उकसावे के बावजूद, भारतीय सैनिकों ने संयम बरता और परिपक्व एवं जिम्मेदार व्यवहार किया.

सेना ने कहा भारतीय सेना ने कभी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पार नहीं की या गोलीबारी समेत किसी आक्रामक तरीके का इस्तेमाल नहीं किया. सेना ने पीएलए के ‘वेस्टर्न थियेटर कमांड’ के बयान को उनके अपने लोगों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने की कोशिश करार दिया.

सेना ने कहा, भारतीय सेना शांति एवं सौहार्द्र बरकरार रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं बहरहाल, वह राष्ट्रीय संप्रभुता एवं अखंडता की हर कीमत पर सुरक्षा के लिए भी दृढ़ संकल्पित हैं. पीएलए के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता, वरिष्ठ कर्नल झांग शुइली ने एक बयान में आरोप लगाया कि भारतीय सैनिकों ने अवैध रूप से एलएसी पार की और बात करने के इच्छुक चीनी सीमा पर गश्त रहे सैनिकों पर खराब ढंग से चेतावनी देने के लहजे में गोलियां चलाईं. उन्होंने इस बारे में विस्तार से कोई जानकारी दिए बिना कहा कि चीनी सैनिकों को स्थिति को स्थिर करने के लिए मजबूरन जवाबी कदम उठाने पड़े.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *