प्रयागराज में 16 विदेशी जमाती और विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सहित 30 लोग गिरफ्तार


प्रयागराज (Prayagraj) . कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार (Government) के प्रयासों को जमातियों के पलीता लगाने का ताजा मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj)से सामने आया है. यूपी सरकार (Government) और पुलिस (Police) विभाग के बार-बार कहने के बावजूद कई जमाती अब भी राज्य के विभिन्न जगहों पर छिपे हुए हैं. ऐसे ही जमातियों के छिपे होने की सूचना प्रयागराज (Prayagraj)पुलिस (Police) को लगी. पुलिस (Police) ने सोमवार (Monday) देर रात छापेमारी करके 30 लोगों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए 30 लोगों में 19 जमाती हैं और उनमें से 16 जमाती विदेशी हैं. पुलिस (Police) ने जिन लोगों को पकड़ा है, उनमें एक इलाहाबाद विश्वविद्यालय का प्रोफेसर भी शामिल है.

  दक्षिण अफ्रीका में 18 जुलाई से होगी क्रिकेट की वापसी

पुलिस (Police) ने बताया कि दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात में शामिल होने के बाद कई जमाती प्रयागराज (Prayagraj)आए थे. कई जमाती थाईलैंड और इंडोनेशिया के नागरिक टूरिस्ट वीजा पर दिल्ली आए और फिर वहां से प्रयागराज (Prayagraj)आ गए थे. प्रदेश सरकार (Government) के सख्त निर्देश थे कि जो भी जमाती राज्य में हैं वे सामने आ जाएं, लेकिन ये जमाती जिले में छिपे थे. पुलिस (Police) को खुफिया सूत्रों ने जानकारी दी कि शिवकुटी के रसूलाबाद में रहने वाले इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के राजनीति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर शाहिद दिल्ली के मरकज में हुई तबलीगी जमात में शामिल होने गए थे. वहां से आने के बाद वह गुपचुप शहर आ गए लेकिन पुलिस (Police) या प्रशासन को इसकी सूचना नहीं दी.

  भोपाल में कोरोना से मौत का आंकड़ा 100 के पार, भोपाल में 58 नए संक्रमित मिले

पुलिस (Police) ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए प्रोफेसर शाहिद को पकड़ा. उनके परिवार को क्वारंटाइन किया गया और फिर पड़ताल के बाद अन्य 19 जमातियों को गिरफ्तार किया गया. पुलिस (Police) ने बताया कि 19 जमातियों में से 16 इंडोनेशिया और थाइलैंड के रहने वाले हैं. एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में इंडोनेशिया के 7, थाईलैंड के 9, केरल और पश्चिम बंगाल (West Bengal) का एक-एक जमाती शामिल है. उन्होंने बताया कि शाहगंज की अब्दुल्ला मस्जिद और करेली की हेरा मस्जिद से जुड़े कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिन्होंने इन जमातियों को संरक्षण दिया. सभी आरोपियों को क्वारंटाइन किया गया है. वहां अतिरिक्त पुलिस (Police) फोर्स लगाई गई है.

Please share this news