संयमित खान पान से ठीक होती है त्वचा की बीमारी


भोजन में मौजूद पौष्टिक तत्व को खून अलग-अलग अंगों तक पहुंचाता है और शरीर के अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकाल कर शरीर की सफाई करता है. साथ ही खून, शरीर के अंगों तक ऑक्सिजन भी पहुंचाता है. गलत और अनहेल्दी आहार खाने से हमारे रक्त में कुछ ऐसे तत्व भी पहुंच जाते हैं, जो शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं. इसी को खून खराब होना कहते हैं. खून में गंदगी से फोड़े-फुंसी, पिंपल और स्किन डिजीज हो सकता है. ऐसे में ब्लड में मौजूद विषैले तत्वों को बेहतर जीवनशैली और संयमित खान पान के जरिए शरीर से बाहर निकाल सकते हैं.
रोजाना 3 से 4 लीटर पानी पीने से ब्लड में गंदगी की समस्या कभी नहीं होगी. पानी से शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ और हानिकारक बैक्टीरिया यूरिन और मल के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाते हैं.
सौंफ खून की सफाई के लिए सबसे अच्छा विकल्प है. रोजाना सौंफ के इस्तेमाल से शरीर का ब्लड डीटॉक्सिफाई होता रहता है और गंदगी शरीर से बाहर निकलती रहती है.
नियमित रूप से व्यायाम करने से शरीर से पसीना निकलता है, जिससे शरीर की तमाम गंदगी बाहर निकल जाती है.
ग्रीन टी पियें
ग्रीन टी पीने से ब्लड प्यूरिफाई होता है. यह मेटाबॉलिज्म को ठीक करती है और रक्त में मौजूद अशुद्धियां बाहर निकालती है.
फाइबर युक्त आहार
खून को शुद्ध करने के लिए फाइबर और विटमिन सी से भरपूर आहार करना चाहिए. फाइबर के लिए हरी सब्जियां, गाजर, मूली, चुकंदर, शलजम, फल, ड्राई फ्रूट्स और मोटा अनाज ले सकते हैं. विटमिन सी के लिए नींबू, संतरा, आंवला और पपीता खा सकते हैं. चुकंदर खाने से ब्लड में हीमॉग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है.

Please share this news
  कोरोना संक्रमित मरीजों को अब थाइरॉयड बीमारी का खतरा : शोध