हांगकांग में अमेरिकी राजनयिक ने सुरक्षा कानून के इस्तेमाल को ‘त्रासदी’ बताया

हांगकांग . हांगकांग में अमेरिका के शीर्ष राजनयिक ने कहा कि अर्द्ध स्वायत्त चीनी क्षेत्र में “मौलिक स्वतंत्रता” को छीनकर आर्थिक केंद्र में “जबर्दस्ती और, आत्म-नियंत्रण का माहौल” बनाने के लिए नए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का प्रयोग करना एक “त्रासदी” है. हांगकांग और मकाऊ में अमेरिकी महावाणिज्य दूत हैन्सकम स्मिथ ने कहा,राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का इस्तेमाल मौलिक स्वतंत्रताओं को समाप्त करने और जबर्दस्ती तथा आत्म-नियंत्रण का माहौल बनाने के लिए करना हांगकांग के लिए एक त्रासदी है. उन्होंने कहा, हांगकांग मुख्यत: अपने खुलेपन को लेकर सफल रहा है और हम इस बरकरार रखने के लिए कुछ भी करने को तैयार है. हांगकांग में पिछले साल सरकार (Government) विरोधी प्रदर्शनों के बाद पिछले हफ्ते लागू किया गया कानून अलगाववादी, विध्वंसक या आतंकवादी गतिविधियों के साथ ही शहर के आंतरिक मामलों में विदेशी हस्तक्षेप को अवैध बनाता है. शहर की स्वतंत्रता की मांग के लिए नारे लगाना या पोस्टर दिखाना और झंडे लहराना जैसी गतिविधियां इस कानून का उल्लंघन मानी जाएंगी भले ही हिंसा हुई हो या नहीं. कानून के प्रभावी होने के बाद से सरकार (Government) ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि प्रदर्शन के नारे, हांगकांग को आजाद करो, हमारे समय की क्रांति” में अलगाववादी संकेत हैं और इसलिए इसे लगाना अपराध है. हांगकांग के सार्वजनिक पुस्तकालयों में, लोकतंत्र समर्थक लोगों द्वारा लिखी गई पुस्तकों को हटा लिया गया है. अधिकारियों का कहना है कि नए कानून के मद्देनजर वे पुस्तकों की समीक्षा कर रहे हैं.

Please share this news
  मध्य रेल, देवलाली और दानापुर के बीच किसान स्पेशल ट्रेन चलायेगी