मानसिक यातना देने वाले की मनोस्थिति को समझें / जाने की वह किस बात से खुश और नाराज होता है


लंदन . रिश्तों में आई कडवाहट को सकारात्मक सोच के साथ खत्म कर सकते हैं. सकारात्मक सोच रखते हुए साथी के साथ नए सिरे से जिंदगी जीने के लिए तैयार रहें. मानसिक यातना देने वाले की मनोस्थिति को समझें. जानें कि वह किस बात से नाराज या नाखुश होता है. जो भी गलत व्यवहार आपके साथ हो रहा है, उसके जिम्मेदार आप नहीं हैं. अपने साथ होने वाले व्यवहार के बारे में किसी भी अपने को बताने में हिचकिचाएं नहीं.

  दून में तीन और कोरोना पाॅजिटिव मिले, कोरोना संक्रमितों की संख्या 54 पहुंची

वे आपको इसका कोई निदान बताएंगे. अपनी भावनाओं, दर्द को व्यक्त करने के लिए कोई माध्यम ढूंढें. इससे दर्द और तनाव हटेगा और साथी के साथ बिताए खुशनुमा पल याद कर आएंगे. कई बार जो इंसान भावनात्मक शोषण कर रहा होता है,उस इसका अहसास नहीं होता है. इस बात को समझने के लिए काउंसलर की मदद लें. आपके साथ बुरा व्यवहार करने वाला इस लायक नहीं है कि आपकी योग्यता को समझे. रिश्ते में दिनप्रतिदिन बदलाव आते रहते हैं. वक्त के साथ सब कुछ बदल जाता है. लेकिन प्यार के लिए उम्मीदें पहले की तरह जिंदा रहती हैं.

  राजगढ़ पुलिस थाने पहुंचे हजारों लोग, जांच की मांग को लेकर बैठे धरने पर, देखें वीडियो

इसमें जरूरी है कि आप रिश्ते में आ रहे बदलावों पर बात करते रहें. हमेशा रोकटोक और नोकझोंक से रिश्ता ज्यादा दिन नहीं चलता. पार्टनर पर हमेशा नजर रखने में आप का प्यार नहीं है वरन अपने पार्टनर के प्रति अविश्वास नजर आता है. तमाम कोशिशों के बावजूद भी परेशानी हल न हो तो रिश्ते से बाहर निकलकर नई ज़िंदगी की शुरुआत करें. आखिर एक ही जिंदगी है और आपको अपने और खुद से प्यार करने वालों के लिए भी जीना है. मालूम हो कि भावनात्मक शोषण के निशान शरीर पर लगने वाली चोट की तरह नहीं हो सकते है. इससे मानसिक स्तर पर हुई उथल-पुथल को सहन करना मुश्किल होता है. भावुक लोगों के लिए विश्वास करना मुश्किल होता है कि वह जिससे प्रेम करते हैं, वो उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचा रहा है.

Please share this news