टीबी जांचने वाली मशीनों से होगी कोरोना की जांच


नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोरोना संक्रमण की जांच के लिए रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट को मंजूरी देने के बाद टीबी की जांच में इस्तेमाल होने वाली मशीनों से भी कोरोना की जांच को मंजूरी दे दी है. आईसीएमआर ने जेनएक्पर्ट और ट्रूनेट से जांच कराने से जुड़ी सलाह जारी की. सलाह में कहा गया है कि आईसीएमआर यूएस-एफडीए की ओर से स्वीकृत रियल टाइम आरटी-पीसीआर सिस्टम जैसे कि जेनएक्सपर्ट और रोशे सीओबीएएस-6800/8800 का प्रयोग कोरोना संक्रमण की जांच के लिए किया जा सकेगा. इसके अलावा, स्क्रीनिंग के लिए आईसीएमआर की ओर से अनुशंसित ट्रूलैब्स पर ट्रूनेट टेस्ट के जरिए जांच की अनुमति दी गई है. इस जांच में जो पॉजिटिव निकलेंगे उनकी आरटी-पीसीआर द्वारा जांच कर कोविड-19 (Kovid-19) की पुष्टि की जाएगी. इन दोनों ही तकनीकी का इस्तेमाल देश में टीबी की जांच के लिए होता है. बड़ी संख्या में दोनों ही मशीनें देश में हैं. इससे पहले आईसीएमआर ने देश में कोरोना संक्रमण के हॉटस्पॉट्स में रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट को मंजूरी दी थी.

Please share this news
  मुंबई में कंटेनमेंट मुक्त इलाकों में बिकेगी शराब