Wednesday , 28 October 2020

घटिया सामान बेचने पर जुर्माना और जेल, नया उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम लागू


नई दिल्ली (New Delhi) . उपभोक्ता कानून में सोमवार (Monday) से किए बदलावों से घटिया सामान बेचने वालों, गुमराह करने वाले विज्ञापन देने वालों को जेल की हवा खानी पड़ सकती है. घटिया सामान बेचने वालों को छह महीने की जेल हो सकती है या एक लाख रुपए जुर्माना देना पड़ेगा. बड़े नुकसान पर ग्राहक को पांच लाख रुपए मुआवजा देना होगा और सात साल की जेल होगी.

उपभोक्ता की मौत हो जाए तो मुआवजा दस लाख व सात साल या आजीवन कारावास भी संभव है. उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम (कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट-2019) के तहत अब ग्राहक किसी भी उपभोक्ता अदालत में शिकायत कर सकेगा, अभी तक शिकायत वहीं की जा सकती थी, जहां से सामान खरीदा गया हो. नया कानून 1986 के उपभोक्ता कानून का स्थान लेगा.

सेलिब्रिटीज की जवाबदेही तय

भ्रामक विज्ञापन करने पर सेलिब्रिटी पर भी 10 लाख तक जुर्माना. सेलिब्रिटी का दायित्व होगा कि वह विज्ञापन में किए गए दावे की पड़ताल कर ले. मिलावटी सामान और खराब प्रोडक्ट पर कंपनियों पर जुर्माना व मुआवजे का प्रावधान है. झूठी शिकायत करता है तो अब 50 हजार रुपए जुर्माना लगेगा.

Please share this news