सुस्ती से बेअसर आईआईटीज प्लेसमेंट, अंतरराष्ट्रीय प्रस्तावों में 400 फीसदी तक बढ़ोतरी


नई दिल्ली (New Delhi) . देश में आर्थिक मंदी का असर रोजगार सृजन को लेकर भले ही रहा हो पर देश के प्रीमियम संस्थान इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (आईआईटीज) के छात्रों पर इसका कोई असर नहीं दिख रहा है. पहले फेज के लिए प्लेसमेंट की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है और 60 फीसदी छात्रों को नौकरी लग चुकी है. इस साल देश और विदेश की कंपनियां छात्रों को शानदार नौकरी ऑफर कर रही हैं.

  बायोकॉन को कोरोना इलाज के उपकरण बनाने डीसीजीआई की मंजूरी

इस साल ग्लोबल ऑफर्स में काफी तेजी आई है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल आईआईटी के छात्रों को पिछले साल के मुकाबले ज्यादा ग्लोबल ऑफर मिले हैं. माइक्रोसॉफ्ट, ऊबर, एसेंचर जापान, हनीवेल जैसी ग्लोबल कंपनियों ने यहां के छात्रों को जबर्दस्त नौकरी ऑफर की हैं. आईआईटीज में ग्लोबल ऑफर्स में करीब 100-400 फीसदी तक तेजी आई है.

ग्लोबल ऑफर्स आईआईटी मद्रास और हैदराबाद में 60 फीसदी की तेजी आई है, जबकि आईआईटी- कानपुर, खड़गपुर, वाराणसी (बीएचयू) और गुवाहाटी में करीब 100-400 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. इस साल छात्रों को ज्यादा नौकरी यूनाइटेड स्टेट्स (यूएस), सिंगापुर और जापान से ऑफर की गई हैं. आईआईटी खड़गपुर की बात करें तों पिछले साल 26 अंतरराष्ट्रीय प्रस्ताव थे, इस साल यह 51 है. आईआईटी कानपुर (Kanpur) में इस साल 22 अंतरराष्ट्रीय प्रस्ताव हैं, पिछले साल मात्र 10 था.

  सोनालीका ने इंटेलिजेंट वेंटीलेटर सिस्टम का निर्माण किया

इसी तरह आईआईटी बीएचयू में पिछले साल 4 के मुकाबले इस साल 11 और आईआईटी गुवाहाटी में 25 ग्लोबल ऑफर हैं, जबकि पिछले साल यह मात्र 5 था. सभी आईआईटीज में पहले चरण के लिए प्लेसमेंट की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है. दूसरे चरण की प्रक्रिया जनवरी में शुरू होगी. हालांकि अब तक करीब 60 फीसदी छात्रों को प्लेसमेंट मिल चुका है. जानकारी के मुताबिक आईआईटी बीएचयू में रिक्रूटर इंटरनेशनल ऑफर पर ज्यादा जोर दे रहे हैं और दूसरे फेज में इसमें बढ़ोतरी की पूरी संभावना है.

Please share this news