मंदी के बाद भी कर्मचारियों की छंटनी नहीं करेगी टाटा मोटर्स


नई दिल्ली (New Delhi) .भारतीय ऑटोमोबाइल कंपनी टाटा मोटर्स घरेलू वाहन बाजार में जारी सुस्ती के बाद भी कर्मचारियों की छंटनी नहीं करेगी. कंपनी को अगले कुछ महीनों में बाजार में उतारे जाने वाले नए उत्पादों के दम पर प्रदर्शन में सुधार की उम्मीद है. कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक गुंटर बटशेक ने यह जानकारी दी. गुंटर से पूछा गया कि क्या वाहन क्षेत्र में जारी नरमी के कारण कंपनी कर्मचारियों की छंटनी करेगी है,उन्होंनेकहा, हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है. उन्होंने कहा कि यदि कंपनी की ऐसा कुछ करने की योजना होती तो वह पहले ही कर चुकी होती.

  50 हजार अस्थायी कर्मचारी नियुक्त करेगी अमेजन

बटशेक ने कहा, हम 12 महीने से नरमी के संकट से जूझ रहे हैं. यदि हम छंटनी करना चाहते,तब पहले ही कर चुके होते. उन्होंने कहा कि कंपनी अगले कुछ महीने में एल्ट्रोज, नेक्सन ईवी और ग्रैविटास एसयूवी सहित अन्य उत्पाद बाजार में उतारने वाले हैं. इसके अलावा भारत चरण छह उत्सर्जन मानकों को अपनाना भी है. उन्होंनेकहा,मुझे यकीन है कि अर्थव्यवस्था चाहे जिस दिशा में जाये, हम बाजार से बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं. चूंकि ये उत्पाद विभिन्न कीमत दायरे के हैं, हमारे मुनाफे की संभावनाएं हमेशा की तुलना में बेहतर स्थिति में है. अत: मैं अभी काफी सकारात्मक हूं. बटशेक ने कहा कि कंपनी मौजूदा स्थिति को पलटने के लिये वाणिज्यिक वाहन क्षेत्र में सभी आवश्यक कदम उठा रही है. यह क्षेत्र राजस्व के संदर्भ में कंपनी का आधार रहा है.

  आईडीएफसी फर्स्ट बैंक को जनवरी-मार्च तिमाही में 76.36 करोड़ का मुनाफा

हमारे पास सही उत्पाद हैं, हमारा डीलर नेटवर्क अभी बढ़िया काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि कंपनी के पास लागत में कमी लाने तथा गुणवत्ता नियंत्रित करने के कदम उठाने सहित हर प्रकार की व्यवस्थाएं हैं. उन्होंने कहा, कर्मचारियों की छंटनी करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि हमें उस समय श्रमशक्ति की जरूरत होगी जब बाजार बढ़ रहा होगा. हालांकि,बटशेक ने माना कि उन्होंने अपने 30 साल के करियर में अब तक इस तरह की अनिश्चितता नहीं देखी है.

Please share this news