सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भिड़े डॉक्टर और फार्मासिस्ट कर्मचारी


बहराइच . उत्तरप्रदेश में बहराइच जिला अस्पताल में आपस में दूरी बनाये रखने का सुझाव देने पर डॉक्टरों (Doctors) और फार्मासिस्ट कर्मचारियों के बीच कथित तौर पर मारपीट हो गई. इसके खिलाफ पैरामेडिकल स्टाफ के धरने के चलते अस्पताल की सेवाएं कई घंटे ठप रहीं. बहराइच स्थित स्वायत्तशासी मेडिकल कॉलेज से जिला अस्पताल को सम्बद्ध किया गया है. मेडिकल कालेज के जूनियर रेजीडेंट डॉक्टरों (Doctors) की तैनाती जिला अस्पताल में की गई है. जिला चिकित्सालय के चीफ फार्मासिस्ट वीरेन्द्र सिंह ने आरोप लगाया कि वह मंगलवार (Tuesday) सुबह औषधि भंडार स्थित अपने केबिन में मौजूद थे. उसी समय रेजिडेंट डॉक्टर (doctor) हशमत अली, डॉक्टर (doctor) विंध्यवासिनी और डॉक्टर (doctor) अमित कुमार शुक्ल उनके केबिन में आकर बैठ गए.

  मध्य रेल मुंबई से शुरू हुई पहली यात्री ट्रेन

उन्होंने डॉक्टरों (Doctors) से आपस में दूरी बनाये रखने का ख्याल रखकर दूर बैठने की बात कही. इससे नाराज होकर रेजीडेंट डॉक्टर (doctor) कमरे से चले गए लेकिन थोड़ी देर बाद करीब 40 जूनियर डाक्टरों के साथ औषधि भंडार में पहुंच कर उन पर हमला कर दिया. उन्हें बचाने पहुंचे फार्मासिस्ट दिलीप कुमार, कर्मचारी शकील अहमद तथा अन्य को भी जमकर पीटा गया. चीफ फार्मासिस्ट और कर्मचारियों पर हमले की खबर सुनते ही जिला अस्पताल के तमाम विभागों के फार्मासिस्ट और कर्मचारी अस्पताल का कामकाज ठप कर जूनियर डॉक्टरों (Doctors) पर कार्रवाई की मांग करते हुए धरने पर बैठ गए.

Please share this news