Wednesday , 28 October 2020

पीएम आवास के बाहर धरना देना पड़े तो दिल्ली भी जाएंगे : सीएम गहलोत


जयपुर (jaipur) . राजस्थान (Rajasthan) में राजनीतिक उठापटक के बीच यहां के मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) अपनी सरकार (Government) बचाने के लिए लगातार प्रयासरत हैं. इस दौरान सीएम गहलोत ने विधायक दल की बैठक भी की. जिसमें गहलोत ने अपने विधायकों से कहा कि अगर धरना देने के लिए प्रधानमंत्री निवास जाना पड़े तो दिल्ली भी जाएंगे. विधायक दल की बैठक में राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा, ‘आप लोग तैयार रहिए. अगर 21 दिन तक बैठना पड़े तो यहां रहेंगे. राष्ट्रपति भवन जाना पड़े तो राष्ट्रपति के पास जाएंगे या फिर प्रधानमंत्री निवास के बाहर दिल्ली में धरना देने जाना पड़े तो प्रधानमंत्री निवास दिल्ली भी जाएंगे.’

इस दौरान परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि जब तक राज्यपाल कोई फैसला नहीं कर लेते हैं तब तक कांग्रेस के हमारे विधायक एक साथ होटल (Hotel) में ही रहेंगे. राज्यपाल बीजेपी के साथ हैं और बीजेपी चाह रही है कि हमारे विधायक होटल (Hotel) से निकले ताकि वह उनको तोड़ सके लेकिन ऐसा होने वाला नहीं है. खाचरियावास ने कहा कि हमें कोर्ट या राज्यपाल से कहीं भी न्याय नहीं मिल रहा है. यह बड़ा संकट है लेकिन चाहे जितना समय लगे जीत हमारी होगी. हमारे पास विधायक हैं. हम लोग अपना कामकाज करेंगे, जिन विधायकों को जहां जाना है जाएंगे, मगर वापस होटल (Hotel) में आ जाएंगे. सचिन पायलट बीजेपी के साथ खेल में शामिल हैं और इस पूरे खेल के पीछे बीजेपी ही है. वहीं सीएम गहलोत राज्यपाल कलराज मिश्र के साथ मुलाकात करेंगे. सीएम अकेले राज्यपाल से मिलेंगे. साथ ही विधानसभा सत्र बुलाने को लेकर राज्यपाल को सीएम गहलोत प्रस्ताव सौंपेंगे.

वहीं राजस्थान (Rajasthan) बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल शाम 5 बजे राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात करेगा. बता दें कि विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने को लेकर राजस्थान (Rajasthan) में गहलोत गुट के विधायकों ने शुक्रवार (Friday) को राजभवन में धरना दिया था. इस दौरान राज्यपाल कलराज मिश्र ने विधायकों से बात भी की. हालांकि गहलोत गुट अभी भी विधानसभा सत्र बुलाने के लिए अड़ा हुआ है.

Please share this news