महाराष्ट्र में नवरात्रि में नहीं होगा डांडिया-गरबा, रावण दहन को मंजूरी, गाइडलाइन जारी

मुंबई (Mumbai) , . इस साल कोरोना संक्रमण के चलते सभी त्योहारों पर ग्रहण लगा हुआ है. हाल ही में संपन्न महाराष्ट्र (Maharashtra) का सबसे बड़ा त्यौहार गणपति उत्सव सादगी भरे माहौल में मनाया गया और अब नवरात्रि उत्सव भी सादगी के साथ मनाने का आदेश महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार (Government) ने जारी कर दिया है. हालांकि दशहरे के दिन रावण दहन की अनुमति सरकार (Government) ने दी है. राज्य सरकार (Government) की तरफ से नवरात्रोत्सव सहित अन्य त्योहारों के लिए जो गाइडलाइन जारी की गई है उसके अनुसार नवरात्रि के दौरान डांडिया, गरबा के आयोजन नहीं किये जायेंगे.

सार्वजनिक नवरात्रोत्सव के तहत पंडालों में मां दुर्गा की प्रतिमा 4 फुट से अधिक ऊंची नहीं हो सकती है, जबकि घरों में 2 फुट ऊंची मूर्ति स्थापित की जा सकती है. मां दुर्गा की शोभा यात्रा नहीं निकाली जा सकेगी. विसर्जन के नियमों का पालन करना होगा. पंडाल में सेनिटाइजर का उपयोग और दर्शन के लिए लगने वाली कतार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. गाइडलाइन में कहा गया है कि नवरात्रोत्सव के लिए खुशी में मिला चंदा स्वीकार किया जा सकता है. विज्ञापन की वजह से भीड़ नहीं बढ़ने की जिम्मेदारी खुद मंडलों को लेनी होगी. देवी के दर्शन की सुविधा ऑनलाइन केबल नेटवर्क, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया (Media) पर करायी जा सकती है.

– रावण दहन को मंजूरी

महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार (Government) ने इस साल कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के उद्देश्य से गरबा, डांडिया के कार्यक्रमों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है. इसके साथ ही धार्मिक कार्यक्रम के आयोजन में भीड़ नहीं हो इस पर ध्यान देने की बात गाइडलाइन में कही गई है. विजय दशमी (दशहरा) के दिन रावण का दहन किया जा सकेगा, लेकिन कार्यक्रम स्थल पर भीड़ की इजाजत नहीं है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *