Wednesday , 28 October 2020

क्राइम ब्रांच ने गैंगस्टर अनवर ठाकुर को दबोचा


नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली पुलिस (Police) की क्राइम ब्रांच ने गैंगस्टर अनवर ठाकुर को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. वह हत्या (Murder) के एक मामले में दोषी ठहराया जा चुका है और पैरोल पर बाहर चल रहा था. उसके पास से ब्राजील की बनी की पिस्टल और जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं. गैंगस्टर अनवर ठाकुर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) का रहने वाला है. फिलहाल वह दिल्ली के मयूर विहार के पांडव नगर में रह रहा था.

अनवर ठाकुर और उसका भाई अशरफ ठाकुर के अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और गैंगस्टर बबलू वास्तव से भी कनेक्शन हैं. 10 जुलाई 2020 को दिल्ली पुलिस (Police) को गैंगस्टर अनवर ठाकुर के उत्तर पूर्व दिल्ली में मौजूद होने की खुफिया जानकारी मिली थी. इसके बाद दिल्ली पुलिस (Police) की क्राइम ब्रांच ने जाल बिछाया और 47 वर्षीय अनवर ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया. हत्या (Murder) का दोषी अनवर ठाकुर गैंगवार के लिए चेन्नू पहलवान गैंग को फिर से मजबूत करने में जुटा था. फिलहाल चेन्नू पहलवान तिहाड़ जेल में बंद हैं. गैंगस्टर अनवर ठाकुर के परिवार में 6 भाई, चार बहन और मां हैं.

दिल्ली के सदर बाजार मामले में अनवर ठाकुर को दोषी ठहराया जा चुका है और आजीवन कारावास की सजा सुनाई जा चुकी है. उसने सदर बाजार थाने के अंदर पुलिस (Police) के मुखबिर की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी थी. इसके पहले वह मेरठ (Meerut) और दिल्ली में कई आपराधिक गतिविधियों में शामिल रह चुका है. गैंगस्टर अनवर ठाकुर 17 मार्च 2020 को पैरोल पर जेल से बाहर आया था और उत्तर पूर्व दिल्ली में रहकर चेन्नू पहलवान गैंग को मजबूत करने में जुटा था. गैंगस्टर अनवर ठाकुर का छोटा भाई अशरफ भी खूंखार क्रिमिनल था, जिसे साल 2002 में मुंबई (Mumbai) पुलिस (Police) ने एक एनकाउंटर में ढेर कर दिया था.

Please share this news