59 ऐप्स पर प्रतिबंध लगाए जाने से परेशान हुआ चीन

बीजिंग . भारत-चीन सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत सरकार (Government) ने 59 चाइनीज एप्स प्रतिबंधित कर दिए हैं. इसको लेकर चीन की प्रतिक्रिया सामने आई है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि इससे हम काफी चिंतित हैं. मामले की और जानकारी ले रहे हैं. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लिजियन ने कहा कि ऐप के बैन होने पर चीन काफी चिंतित है. उन्होंने कहा हम इस बात पर जोर देना चाहते हैं कि चीनी सरकार (Government) हमेशा चीनी व्यवसायों को अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय कानूनों का पालन करने के लिए कहती है. भारत सरकार (Government) के पास चीनी निवेशकों सहित अंतर्राष्ट्रीय निवेशकों के कानूनी अधिकारों को बनाए रखने की ज़िम्मेदारी है.

  उपराष्ट्रपति वैंकेया ने सुषमा स्वराज को यादकर कहा, आज आपको बहुत मिस कर रहा हूं

भारत सरकार (Government) ने सोमवार (Monday) शाम को टिकटॉक, हेलो, वी-चैट समेत 59 चाइनीज एप्स को बैन कर दिया था. सरकार (Government) ने कहा था कि ये एप देश की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं. आईटी मंत्रालय ने सोमवार (Monday) को जारी एक आधिकारिक बयान में कहा कि उसे विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें मिली हैं, जिनमें एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्ट शामिल हैं.

  Ram Mandir Bhumi Poojan: भूमिपूजन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने वाले परासरण और प्रयागराज के वासुदेवानंद महाराज

इसके बाद टिकटॉक ने मंगलवार (Tuesday) सुबह एक बयान जारी किया. टिकटॉक ने कहा कि उसने चीनी सरकार (Government) समेत किसी भी विदेशी सरकार (Government) के साथ यूजर्स का डाटा शेयर नहीं किया है और न ही भविष्य में वह ऐसा करेगी. टिकटॉक ने कहा हमें जवाब देने और स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के लिए संबंधित सरकारी हितधारकों के साथ मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है. टिकटॉक भारतीय कानून के तहत सभी डाटा गोपनीयता और सुरक्षा आवश्यकताओं का पालन करता है.

Please share this news