कोरोना संक्रमण से न्यूयॉर्क में गंभीर हुई स्थिति, रोजाना चार सौ से ज्यादा मौतें

न्यूयॉर्क . अमेरिका में कोरोना (Corona virus) से मरने वालों की संख्या 10 हजार के पार हो गई है. न्यूयॉर्क में हालात बेहद डरावने हो चुके हैं. यहां अब हर रोज औसतन 400 से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है. रविवार (Sunday) को न्यूयॉर्क के एक हॉस्पिटल के मंजर ने हर किसी को हिला कर रख दिया यहां सिर्फ 40 मिनट के अंदर 10 लोगों की मौते हो गई. ब्रूकलिन यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में हर तरफ अफरा-तफरी का मंजर है.

बीते रविवार (Sunday) को यहां 40 मिनट के अंदर 10 मरीजों ने दम तोड़ दिया और वह भी सिर्फ एक इमरजेंसी (Emergency) रूम में. इसमें से 6 मरीजों की मौत कार्डियक अरेस्ट के चलते हुई, जबकि 4 मरीज तो इमरजेंसी (Emergency) रूम के अंदर भी नहीं पहुंच सके. यहां के एक डॉक्टर (doctor) ने बताया कि लोग इतने ज्यादा बीमार हैं कि पलक झपते ही मरीजों की मौत हो जाती है. इतना ही उन्होंने ये भी कहा कि वेंटिलेटर लगाते-लगाते ही लोगों की मौत हो जाती है. वहीं जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक अमेरिका में सोमवार (Monday) सुबह तक 340,000 मामलों की पुष्टि हुई है और अब तक 9,650 लोगों की मौत हो चुकी है.

  सुप्रीम कोर्ट में शारजील इमाम की याचिका पर सुनवाई, सॉलिसिटर जनरल ने मांगा जबाव

वहीं शीर्ष प्रशासन के अधिकारियों ने सप्ताह के अंत में एक साझा संदेश जारी करते हुए कहा कि अमेरिका के सामने इसके आगे भी मुश्किल समय है. इसके अलावा देश के अग्रणी संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ एंथनी फौसी ने कहा यह संभवत: बहुत बुरा सप्ताह है. इसके अलावा न्यूयॉर्क शहर में सिटी काउंसिल हेल्थ कमेटी के चेयरमैन ने भी चेताया है कि कोरोना की वजह से मरने वालों के इतने अधिक शव हो गए हैं कि मुर्दाघर लगभग भरे हुए हैं.

  सोनालीका ने इंटेलिजेंट वेंटीलेटर सिस्टम का निर्माण किया

उन्‍होंने जल्‍दी ही इसके अस्‍थाई विकल्‍प तैयार करने की बात कही. चेयरमैन मार्क लेवाइन ने कहा इस बात की आशंका गहराती जा रही है कि जल्द ही मृतकों की संख्या शहर और अस्पतालों के मुर्दाघरों की सीमा से बाहर हो जाएगी ऐसे में पब्लिक पार्क में अस्थाई सामूहिक कब्र बनाने पर विचार किया जा रहा है. मगर उन्‍होंने यह स्‍पष्‍ट नहीं किया कि उनकी किसी पार्क में कब्र बनाने की तैयारी है. लेवाइन ने कहा हमारी तैयारी केवल कहने तक सीमित नहीं है. हम इस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.

Please share this news