चीन बना रहा है पीओके के कोहोला में 2.4 अरब डॉलर के हाइड्रो पावर प्रॉजेक्ट

इस्लामाबाद . चीन पाकिस्तान के हिस्से वाले कश्मीर के कोहोला में 2.4 अरब डॉलर (Dollar) के हाइड्रो पावर प्रॉजेक्ट बनाने वाला है. यह प्रॉजेक्ट बेल्ट ऐंड रोड इनिशिएटिव का हिस्सा है जिसके जरिए यूरोप, एशिया और अफ्रीका के बीच व्यावसायिक लिंक बनाने का उद्देश्य है. इस प्रॉजेक्ट की मदद से देश में बिजली सस्ती हो सकती है.

पाकिस्तान की सरकार (Government) ने सोमवार (Monday) को कश्मीर के सुधानोटी जिले में झेलम नदी पर आजाद पट्टान हाइड्रो प्रॉजेक्ट का ऐलान किया. यह बांध चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का हिस्सा है. इस प्रॉजेक्ट को कोहाला हाइड्रोपावर कंपनी ने डिवेलप किया है जो चीन की तीन गॉर्गेज कॉर्पोरेशन की इकाई है. समझौते पर दस्तखत के समारोह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी और चीन के राजदूत याओ जिंग शामिल थे. पीएम के स्पेशल असिस्टेंट असीम सलीम बाजवा ने इस डील को मील का पत्थर बताया है.

  ट्रक पलट जाने से भीषण हादसा, रक्षाबंधन मनाने जा रहे परिवार के 4 लोगों की मौत

चीन का दावा है कि इससे चीन-पाकिस्‍तान आर्थिक कॉरिडोर और बलूचिस्‍तान में बन रहे चीनी नौसेना के बेस की सुरक्षा की जा सकेगी. पाकिस्‍तान अब अपनी एयरफोर्स के लिए चीन के साथ मिलकर ऐसे 48 हमलावर ड्रोन विमान बनाना चाहता है. GJ-2 ड्रोन विंग लोंग II का सैन्‍य संस्‍करण है. माना जाता है कि इस चीनी ड्रोन विमान में 12 हवा से जमीन में मार करने वाली मिसाइलें लगी रहती हैं. इस ड्रोन विमान का लीबिया के गृहयुद्ध में इस्‍तेमाल किया जा रहा है लेकिन वहां इसे बहुत सीमित सफलता म‍िल रही है.

Please share this news