केनरा बैंक ने घटाया एमसीएलआर, सस्ती दर पर मिलेंगे कार-होम लोन, ईएमआई भी कम होगी

नई दिल्ली (New Delhi) . देश के 10 सरकारी बैंकों का एक अप्रैल से विलय प्रभावी हो चुका है. इस विलय में केनरा बैंक (Bank) में सिंडिकेट बैंक (Bank) का विलय हुआ है. विलय के बाद केनरा बैंक (Bank) ने पहली बार मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) को घटा दिया है. इसका मतलब यह है कि अब केनरा बैंक (Bank) और सिंडिकेट बैंक (Bank) के ग्राहकों को होम, कार लोन सस्ती ब्याज दर पर मिलेंगे. इसके अलावा जिन लोगों का पहले से लोन चल रहा है उनकी भी ईएमआई कम हो जाएगी.

  यूपी के बाराबंकी जिले में एक दिन में 95 कोरोना के मरीज़ मिले

उल्लेखनीय है कि सिंडिकेट बैंक (Bank) के विलय के बाद अब केनरा बैंक (Bank) देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक (Bank) बन गया है. विलय के बाद देश में इस बैंक (Bank) की 10,324 शाखाएं हैं. केनरा बैंक (Bank) ने एक साल की अवधि वाले कर्ज के लिए 0.35 फीसदी, छह महीने की अवधि वाले कर्ज के लिए 0. 30 फीसदी, तीन महीने की अवधि के लिए 0.2 फीसदी और एक महीने या एक दिन के लिए ब्याज दर में 0.5 फीसदी की कटौती की है.
इसके अलावा केनरा बैंक (Bank) ने रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (आरएलएलआर) में 0.75 फीसदी की कटौती की है. इस कटौती के बाद बैंक (Bank) का आरएलएलआर 8.05 फीसदी से घटकर 7.30 फीसदी रह गया है. ये नई दरें मंगलवार (Tuesday) से प्रभावी हो गई हैं. इससे पहले एसबीआई, बैंक (Bank) ऑफ इंडिया, बैंक (Bank) ऑफ बड़ौदा, पीएनबी, यूनियन बैंक (Bank) ऑफ इंडिया, बैंक (Bank) ऑफ महाराष्ट्र (Maharashtra) ने भी ब्याज दरें घटा दी हैं. बता दें कि रिजर्व बैंक (Bank) ने लॉकडाउन (Lockdown) को देखते हुए रेपो रेट में भारी कटौती की थी. इस वजह से बैंकों पर ब्याज दर कम करने का दबाव बढ़ गया था.

Please share this news