इब्रूफेन से बढ़ सकता है कोविड संक्रमण, पेरासिटामोल का करें इस्तेमाल


नई दिल्ली (New Delhi) . ऐसे लोग जिनमें कोरोना (Corona virus) के लक्षण हों, वे इब्रूफेन ना लें, इसकी जगह पेरासिटामोल का इस्तेमाल करें. फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री के इस दावे का समर्थन विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) (डब्ल्यूएचओ) ने भी किया है. संयुक्त राष्ट्र के इस स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञों ने कहा है कि वे इस पर आगे भी निर्देश जारी करेंगे. डब्ल्यूएचओ के एक ‎‎‎विशेषज्ञों ने कहा ‎कि यदि खुद दवा ले रहे हों तो हम सलाह देंगे कि पेरासिटामोल का इस्तेमाल करें, इब्रूफेन नहीं.

  भारत में कोरोना पर अब भी कंट्रोल नहीं देश में 24 घंटे में 6535 नए केस और 146 मौतें

उन्होंने यह भी कहा कि यदि इब्रूफेन लेने की सलाह डॉक्टर (doctor) ने दी है तो यह उनपर निर्भर है. एक अध्ययन के मुताबिक एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स जैसे इब्रूफेन से बढ़ने वाला एक एंजाइम कोविड-19 (Kovid-19) संक्रमण को बढ़ा सकता है. इसके बाद फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ने भी चेतावनी दी कि कोविड-19 (Kovid-19) के संभावित मरीज इस दवा का इस्तेमाल ना करें. यह दवा बुखार, दर्द या सूजन में लोग काउंटर से खरीदकर खाते हैं. यदि बुखार हो तो पेराशिटामोल लें. उन्होंने यह भी कहा कि जो मरीज पहले से एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा ले रहे हों, वे अपने डॉक्टर (doctor) से सलाह लें.

Please share this news