ब्रिटेन की साइबर अपराध सेवा ने एक ही दिन में 5000 संदिग्ध ईमेल दर्ज किए


लंदन . कोरोना से संबंधित फर्जी संदेशों के जरिए लोगों को ऑनलाइन नुकसान पहुंचाने वालों पर लगाम लगाने के लिए गठित नई साइबर अपराध सेवा के काम शुरू करने के सिर्फ एक दिन के अंदर ही बुधवार (Wednesday) तक 5,000 इसतरह के संदिग्ध ईमेल दर्ज किए. ब्रिटेन में राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा केंद्र के तहत ‘संदिग्ध ईमेल रिपोर्टिंग सेवा’ अभियान की शुरुआत की गई.

साइबर जागरूकता अभियान संचालित करने वाला राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा केंद्र (एनसीएससी) ब्रिटेन के गृह मंत्रालय, कैबिनेट कार्यालय और डिजिटल, संस्कृति, मीडिया (Media) एवं खेल मंत्रालय के साथ मिलकर काम कर रहा है. कोरोना से जुड़ी फर्जी सेवाओं का हवाला देकर दुर्भावनापूर्ण ईमेल भेजकर लोगों को ऑनलाइन नुकसान पहुंचाने का चलन सामने आने के बाद सरकार (Government) के साइबर सुरक्षा केंद्र के विशेषज्ञों ने जागरूकता अभियान शुरू करने का फैसला किया. जनता के लिए ‘संदिग्ध ईमेल रिपोर्टिंग सेवा’ की शुरुआत के एक दिन के भीतर ही एनसीएससी ने कम से कम 83 वेब लिंक को बंद किया, जिनमें गड़बड़ी मिली. यह सेवा लंदन शहर की पुलिस (Police) के साथ मिलकर विकसित की गई थी.

  कैसे गायब हुआ सितारा? खोज कर रहे वैज्ञानिक

एनसीएससी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सियारेन मार्टिन ने कहा, ”हमारी नई राष्ट्रीय रिपोर्टिंग सेवा से लोगों का तत्काल जुड़ना यह दर्शाता है कि ब्रिटेन की जनता ऑनलाइन तरकीबों के जरिए बरगला कर नुकसान पहुंचाने वालों से बचाव के लिए एकजुट है.” उन्होंने कहा कि ईमेल फर्जीवाड़ों में पिछले एक महीने में कोई इजाफा नहीं देखा गया लेकिन वर्तमान में जनता के बीच कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के डर और असहजता का फायदा उठाकर साइबर अपराधी लोगों को ऑनलाइन नुकसान पहुंचा रहे हैं.

Please share this news