हैडकांस्टेबल पर लाठियों व कुल्हाड़ियों से हमला

भीलवाड़ा. जोधपुर से आने के बाद शूगर पेशेंट की हालत बिगडने के बाद जिला अस्पताल में मौत हो गई. परिजन शव घर ले गये जहां कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते पुलिस (Police) ने शव को एहतियातन घर के बजाय अस्पताल में रखने की समझाइश की तो परिजनों सहित कुछ लोगों ने पुलिस (Police) पर लाठियों और कुल्हाड़ियों से हमला कर दिया. झरडू का खेड़ा गांव में हुई इस घटना में बदनौर थाने का हैडकांस्टेबल घायल हो गया. उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया. पुलिस (Police) ने आरोपितों के खिलाफ राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने का मामला दर्ज किया है.

  कोरोना: काढ़ा जरूरी लेकिन अति से करें परहेज

बदनौर थाना प्रभारी राजेंद्र ताड़ा ने बताया कि झरडू का खेड़ा निवासी वरदीचंद बलाई जोधपुर में काम करता था. वह कुछ समय पहले ही गांव लौटा था. वह शुगर पेशेंट था. गांव में उसकी तबीयत खराब होने पर 9 अप्रैल को जिला अस्पताल ले जाया गया. जहां उसे गहन चिकित्सा इकाई में रखा गया. 10 अप्रैल को वरदीचंद ने दम तोड़ दिया. इसके बाद परिजन शव को देर रात गांव ले आये. एसडीएम के आदेश से तहसीलदार और बदनौर थाना प्रभारी मय जाब्ता झरडू का खेड़ा पहुंचे. पुलिस (Police) ने मृतक के परिजनों से समझाइश की कि कोरोना (Corona virus) संक्रमण की आशंका के चलते शव को घर के बजाय एंबुलेंस (Ambulances) में रखकर अस्पताल में रखा जाये. सुबह दाहसंस्कार करवा दें. इस बात से परिजन और वहां मौजूद लोग खफा हो गये. पुलिस (Police) पर लाठियों व कुल्हाड़ी से हमला कर दिया. इससे हैड कांस्टेबल कैलाशचंद्र के सिर में गंभीर चोट आई. इससे वह लहूलुहान हो गया. पुलिस (Police) ने इस घटना को लेकर राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने का मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी.

Please share this news