तिब्बत में पहुंच का मुद्दा: अमेरिका ने चीन पर नई वीजा पाबंदियों की घोषणा की


वाशिंगटन . अमेरिका ने तिब्बत के संवेदनशील क्षेत्रों में विदेशियों की पहुंच रोकने के काम में शामिल चीन के वरिष्ठ अधिकारियों पर नए वीजा प्रतिबंधों की घोषणा की है, इसके साथ ही तिब्बती लोगों की ‘‘सार्थक स्वायत्तता’’ के प्रति अपना समर्थन दोहराया है. अमेरिका का कदम वाशिंगटन और बीजिंग के बीच पहले से तनावपूर्ण चल रहे संबंधों में कड़वाहट बढ़ाने की एक और वजह बन सकता है.

विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि वह तिब्बत में अमेरिकी लोगों के प्रवेश का आह्वान करने वाले अमेरिकी कानून के तहत चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के कुछ अधिकारियों समेत अनेक चीनी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं. पोम्पियो ने ‘रेसिप्रोकल एक्सेस टू तिब्बत कानून के तहत चीन के अधिकारियों के एक समूह पर वीजा प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है. पोम्पियो ने ट्वीट किया,आज मैं पीआरसी (पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना) के उन अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध की घोषणा करता हूं जो तिब्बत में विदेशियों की पहुंच को रोकने का काम कर रहे हैं.

  केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने किया इशारा, भारत में कोरोना की वैक्‍सीन उपलब्‍ध होने पर प्राथमिकता हेल्‍थ वर्कर्स को

हम लगातार चाहते हैं कि हमारे संबंधों में पारस्परिकता बनी रहे. उन्होंने कहा कि चीन, तिब्बत स्वायत्तशासी क्षेत्र (टीएआर) तथा तिब्बत के अन्य क्षेत्रों में अमेरिकी राजनयिकों तथा अन्य अधिकारियों, पत्रकारों और पर्यटकों को जाने से जानबूझकर लगातार रोकता रहा है, जबकि दूसरी ओर इसके किसी अधिकारियों एवं नागरिकों के अमेरिका में आने पर किसी तरह की कोई रोक नहीं है. पोम्पियो ने कहा कि इसी तरह वह चीन की सरकार (Government) तथा चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के उन अधिकारियों पर वीजा पाबंदी की घोषणा कर रहे हैं जो तिब्बती इलाकों में विदेशियों के प्रवेश से संबंधित नीतियां बनाने और उन्हें कार्यान्वित करने के काम में शामिल हैं.

Please share this news