1 अप्रैल से संगम तट और परेड मैदान को अधिकार में ले लेगी सेना


प्रयागराज (Prayagraj) . प्रयागराज (Prayagraj)के अंतर्गत आने वाले संगम तट और परेड मैदान का क्षेत्र 1 अप्रैल से सेना के अधिकार में चला जाएगा. फिलहाल संगम तक जाने का रास्ता, शौचालय आदि बाढ़ से पहले तक बना रहेगा. वहीं पातालपुरी अक्षयवट जाने के रास्ते की पुलिया को जिला प्रशासन अधिग्रहीत कर लेगा. बता दें कि यह फैसला मेला प्राधिकरण की बैठक में लिया गया है. सेना के परेड मैदान स्थित आइट्रिपलसी में कमिश्नर डॉ आशीष गोयल की अध्यक्षता में मेला प्राधिकरण की बैठक हुई. जिसमें प्रशासन ने पातालपुरी अक्षयवट के रास्ते की पुलिया के अधिग्रहण का मामला उठाया. इस पर सेना के अधिकारियों ने कहा कि 60 लाख का भुगतान करके प्रशासन उसे ले सकता है.

  राजस्‍थान में 61 हजार हेक्टर क्षेत्र में टिड्डी नियंत्रण हुआ : कृषिमंत्री

बैठक में तय हुआ कि प्रशासन सेना को उसका भुगतान करके पुलिया का अधिग्रहण कर लेगा. इसका प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा. जिसका अधिग्रहण करके मेला क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए उसे विकसित किया जाएगा. परेड मैदान और गंगा किनारे की जमीन के मामले को लेकर बैठक में फैसला हुआ कि 31 मार्च तक प्रशासन इसे पूरी तरह खाली कर सेना के हवाले कर देगा.

  डॉक्टर सुसाइड केस आप विधायक प्रकाश जारवाल ने मांगी जमानत

गौरतलब है कि प्रशासन ने इस जमीन को सेना से माघ मेला कराने के लिए लीज पर लिया था. संगम स्नान के लिए रोजाना हजारों लोग पहुंचते हैं. इसलिए मेला खत्म होने के बाद भी संगम तक चकर्ड प्लेट की सड़क बनी रहेगी. साथ ही घाट पर चेंजिंग रूम और शौचालय बना रहेगा. बाढ़ से पहले इसे हटाया जाएगा. वहीं स्नानार्थियों की सुरक्षा के लिए सात गोताखोर संगम पर हर समय तैनात रहेंगे. प्रशासन स्वयं इसका खर्च वहन करेगा.

Please share this news