नहीं रहे छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी, लम्बी बीमारी बाद नारायणा अस्पताल में ली अंतिम सांस


रायपुर, . छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री (Chief Minister) व जेसीसी-जे सुप्रीमो अजीत जोगी का 74 साल की उम्र में 3.30 बजे निधन हो गया है. जोगी को हार्ट अटैक आने के बाद श्री नारायणा अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. जहां 20 दिन तक चले इलाज के बाद आज शुक्रवार (Friday) को फिर कार्डियक अरेस्ट आने से उनकी मौत हो गई है. अस्पताल प्रबंधन ने जोगी के निधन की पुष्टि कर दी है.

दरअसल अजीत जोगी को हार्ट अटैक आने के बाद 9 मई को देवेंद्र नगर स्थित श्री नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जिस समय उन्हें हार्ट अटैक आया, तब वो गार्डन में टहल रहे थे. अजीत जोगी शुरु से अस्पताल में कोमा में थे और वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था. अजीत जोगी का जन्म 29 अप्रैल 1946 में बिलासपुर (Bilaspur) के पेंड्रा में हुआ था. उनका पूरा नाम अजीत प्रमोद कुमार जोगी है. उन्होंने भोपाल (Bhopal) से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके कुछ दिन रायपुर (Raipur) इंजीनियरिंग कॉलेज में अध्यापन का काम किया. जोगी 1968 में यूपीएससी में सफल हुए और आइपीएस बने थे. दो साल बाद ही वे आइएएस बन गए. वो रायपुर, शहडोल और इंदौर (Indore) में 14 साल तक कलेक्टर (Collector) रहे हैं.

  मेघालय- बढ़ी कोरोना की रफ्तार, एक दिन में 76 मामले आए, कुल आंकड़ा 312 हुआ

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के तत्कालीन मुख्यमंत्री (Chief Minister) अर्जुन सिंह के सुझाव पर राजनीति में आए. 1 नवंबर 2000 को जब छत्तीसगढ़ राज्य बना. तब जोगी छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री (Chief Minister) बने. मुख्यमंत्री (Chief Minister) के तौर पर उनका कार्यकाल 9 नवंबर 2000 से 6 दिसंबर 2003 तक था. महासमुंद लोकसभा (Lok Sabha) सीट से वो पहली बार सांसद (Member of parliament) का चुनाव जीते थे. 2004 से 2009 तक वे सांसद (Member of parliament) रहे. श्री जोगी काफी लंबे समय तक कांग्रेस पार्टी में रहे, उसके बाद 2016 में कांग्रेस पार्टी छोड़कर उन्होंने 2018 में अपनी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जेसीसी-जे) नाम से अलग पार्टी बना ली थी.

Please share this news