अलवर में एक महिला ने तीन बेटियों को दिया जन्‍म

अलवर . राजस्थान के अलवर जिले के कोरोना संकट के बीच एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक महिला ने तीन बेटियों को जन्म दिया. तीनों नवजात और मां स्वस्थ हैं. अस्पताल की डॉक्टर (doctor) ने बताया कि कठूमर के इसरोती निवासी गीता ने प्रथम प्रसव में तीन बेटियों को जन्म दिया है. बेटियों के जन्म पर परिवार जनों ने अस्पताल में मिठाई बांटी. दरअसल राजस्थान के अलवर जिले में जिले के सभी सीएचसी और जिला स्तरीय अस्पतालों को कोरोना सेंटर के रूप में विकसित कर दिया है. ऐसे में एक महिला को प्रसव के लिए परिजन कठूमर में राजकीय सामुदायिक स्वास्थ केंद्र लेकर पहुंचे.

  RJD के कुनबे को गोपालगंज जाने से रोका, काफिले में राबड़ी देवी और तेजप्रताप यादव भी मौजूद

लेकिन कठूमर क्षेत्र के खेड़ली में एक कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की मौत हो गई. बुजुर्ग के संपर्क में आई इस सामुदायिक स्वास्थ केंद्र की महिला नर्स (Nurse) और बुर्जुग के पोते की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद कठूमर पंचायत समिति क्षेत्र के इस स्वास्थ केंद्र के सभी कर्मचारियों को क्वारंटीन किया हुआ है. ऐसे में इलाज के सभी काम जिला सरकारी अस्पताल से किए जा रहे हैं. हाई रिस्क जोन घोषित होने की वजह से प्रसूता के परिजनों को डॉक्टर (doctor) दूसरी जगह डिलीवरी करवाने की सलाह दे रहे थे. लेकिन परिजनों ने डॉक्टरों (Doctors) से गुजारिश की तो डॉक्टरों (Doctors) ने पहले पूरे सामुदायिक स्वास्थ केंद्र को सोडियम हाइपो क्लोराइड से सैनिटाइज करवाया.

  14 पैसे मजबूत होकर रुपया 75.62 पर बंद

इसके बाद डॉक्टरों (Doctors) ने लेबर रूम में महिला का प्रसव करवाया. कोरोना के खतरे के बीच कठूमर के सरकारी सामुदायिक स्वास्थ केंद्र में एक साथ 3 बच्चियों की किलकारी गूंजी तो डॉक्टर (doctor) और नर्स (Nurse) सहित पूरा स्टाफ खुशी मनाने लगा. स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ कमलेश ने बताया कि तीनों बच्चियों का वजन औसत से कम है. महिला के घरवालों को बच्चों में वजन कम होने के कारण उन्हें एकबार हायर सेंटर में दिखाने की सलाह दी है.

Please share this news