चार्टड प्लेन से छुट्टियां मनाने गए टेक्सास यूनिवर्सिटी के 70 छात्र , लौटने पर 44 युवा कोरोना से संक्रमित

वॉशिंगटन . कोरोना को लेकर कुछ लोग विश्व स्वास्ठय संगठन (डब्ल्यूएचओ) व अपने देश की सरकारों की चेतावनी को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. ऐसा ही मामला अमेरिका में सामने आया है. यहां 20 साल से कुछ अधिक उम्र के करीब 70 युवा कोरोना से जुड़ी चेतावनियों को ताक पर रखकर घूमने निकल गए. हैरानी की बात ये हैं इसमें से 44 लोग कोरोना पॉजिटिव हुए है. मीडिया (Media) रिपोर्ट के मुताबिक टेक्सास में करीब दो हफ्ते पहले 10 लोगों से अधिक के समूह में जमा नहीं होने की सलाह दी गई थी.

  ब्रावो ने बताया कि रोहित लगा सकते है टी-20 क्रिकेट में पहला दोहरा शतक

लोगों से अपील की गई कि वे गैर जरूरी ट्रैवल ना करें लेकिन युवाओं के इस समूह ने चेतावनियों को नजरअंदाज कर दिया और चार्टड प्लेन से मैक्सिको में छुट्टियां मनाने गए. छुट्टियां मनाने के बाद जब वे वापस आए तो समूह के 44 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले. ये 44 युवा टेक्सास यूनिवर्सिटी के छात्र (student) हैं. टेक्सास के स्पीकर डेनिस बोनेन ने कहा है कि भले ही आपको लगता हो कि कोरोना (Corona virus) आपसे जुड़ा मुद्दा नहीं है, लेकिन असल में है. आपको लगता हो कि यह आपको प्रभावित नहीं करेगा, लेकिन असल में करेगा. कॉलेज के छात्र (student) मैक्सिको जाकर छुट्टियां मना रहे हैं तो ये और भी लोगों को प्रभावित कर रहे हैं हालांकि, चार्टर्ड प्लेन से मैक्सिको पहुंचने के बाद वापसी के दौरान कई छात्रों ने कॉमर्शियल फ्लाइट में भी सफर किया था.

  राजस्‍थान का चूरु रहा देश में सबसे गर्म शहर

अब अधिकारियों को चिंता हो रही है कि कॉमर्शियल फ्लाइट में सफर करने वाले लोग भी संक्रमित हो सकते हैं. स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक, संक्रमित छात्रों के साथ सफर करने वाले अन्य यात्रियों (Passengers) की निगरानी की जा रही है. बता दें कि डब्ल्यूएचओ ने भी कहा है कि युवा कोरोना से बच नहीं सकते. बीते हफ्ते में कई युवाओं की कोरोना से मौत होने की खबर भी आई हैं.

Please share this news