Monday , 28 September 2020

वीर दुर्गादास की 382 वी जयंती ऑनलाइन धूमधाम से मनाई

वीरवर दुर्गादास जी की 382वीं जयंती ऑनलाइन वर्चुअल रूप से मनाई गई.इसमें डॉ कमल सिंह बेमला ने वीरवर दुर्गादास के जीवन वृत पर विस्तृत परिचय प्रस्तुत किया. डॉ नर सिंह परदेशी (इतिहासकार जलगाव विवि महाराष्ट्र), तेजभँवर सिंह नटवाड़ा(टोंक), प्रेमकरण जी बागावास(बाड़मेर), भारत सिंह जी दवाणा, चंद्रवीर सिंह जी करेलिया(अध्यक्ष मेवाड़ क्षत्रिय महासभा शहर उदयपुर (Udaipur)), कमलेंद्र सिंह बेमला, भँवर सिंह बेमला,सोभाग सिंह जी चान्द्समा(जोधपुर),भगत सिंह बेमला, मान सिंह जी टिलोरा(पुष्कर,अजमेर), दिनेश करण जी दवाणा ने अपने विचार प्रकट किये.सभी ने कोरोना की वजह से अपने घरो से ही वीरवर की तस्वीर के सामने दीप प्रज्ज्वलित कर पुष्पांजलि अर्पित की.उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए.

चंद्रवीर सिंह करेलिया ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमे वीर दुर्गादासजी के जीवन से प्रेरणा लेकर राष्ट्र की प्रगति में हाथ बंटाने चाहिए और जीवन की कैसी भी परिस्थिति का डटकर मुकाबला करना चाहिए, उन्होंने मेवाड़ में दुर्गादास की भूमिका पर प्रकाश डाला और उनकी मूर्ति लगाने का आव्हान किया. डॉ नर सिंह परदेसी ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में वीर दुर्गादास जी के विभिन्न आयोमो पर प्रकाश डाला और मराठा मारवाड़ संबंधों पर बताया और वीर दुर्गादास के मानवीय पक्षो को उजागर किया.

Please share this news