इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और 16 विदेशी जमातियों समेत 30 गिरफ्तार


इलाहाबाद . कोरोना का जमात कनेक्शन सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) पुलिस (Police) की कार्रवाई जारी है. हर जिले में जमातियों की तलाश की जा रही है और उन्हें क्वारनटीन किया जा रहा है. साथ ही छिपे हुए जमातियों के खिलाफ कार्रवाई जारी है. प्रयागराज (Prayagraj)में भी छिपे हुए जमातियों और उन्हें छिपाने वाले प्रोफेसर को गिरफ्तार किया गया है. इलाहाबाद विश्वविद्यालय के प्रोफेसर शाहिद और 16 विदेशी जमातियों समेत कुल 30 लोगों को गिरफ्तार किया है. विदेशियों की गिरफ्तारी फॉरेनर्स (Nurse) एक्ट के तहत दर्ज मामले में की गई है, जबकि प्रोफेसर शाहिद को जमातियों को चोरी-छिपे शहर में शरण दिलाने के आरोप और महामारी (Epidemic) एक्ट के तहत दर्ज मुकदमे में गिरफ्तार किया गया है.

  लद्दाख के बाद जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में भूकंप के झटके

दिल्ली पुलिस (Police) की ओर से बार-बार तबलीगी जमात से लौटे जमातियों को सामने आने और क्वारनटीन होने की अपील की जा रही थी. इसके बावजूद प्रयागराज (Prayagraj)में कई जमाती छिपे थे. इस बाबत पुलिस (Police) ने विदेशी नागरिकों और उनके शरणदाताओं के खिलाफ करैली, शिवकुटी और शाहगंज थाने में दर्ज केस दर्ज किया था. शाहगंज पुलिस (Police) ने 7 विदेशियों समेत 17 को गिरफ्तार किया गया है. इसके अलावा करैली पुलिस (Police) ने 9 विदेशी सहित 12 लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं, शिवकुटी पुलिस (Police) ने प्रोफेसर शाहिद को गिरफ्तार किया है. प्रयागराज (Prayagraj)पुलिस (Police) की ओर से अब तक 30 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

Please share this news