होम क्वारंटीन उल्लंघन करने वाले 15 लोग पकड़ाए


मुंबई (Mumbai) . पुणे पुलिस (Police) ने एक ही परिवार के 15 सदस्यों को होम क्वारंटीन के आदेश का उल्लंघन करते हुए पकड़ा है. सभी के हाथ में होम क्वारंटीन की मुहर लगी हुई है. बताया गया कि पुणे ग्रामीण पुलिस (Police) ने सभी को पुराने पुणे-मुंबई (Mumbai) हाइवे पर एक ही वाहन में सफर करते हुए पकड़ लिया. इसके साथ ही पुलिस (Police) ने उनके खिलाफ राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कानून और महामारी (Epidemic) रोग अधिनियम के उल्लंघन को लेकर मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस (Police) ने कहा कि परिवार के सदस्य 21 मार्च को राज्य के उस्मानाबाद जिले में रुमगांव में एक रिश्तेदार के अंतिम संस्कार में शामिल होने गए थे. मगर, जनता कर्फ्यू (Public curfew) घोषित किए के वजह से सभी लोग वहीं रुके रहे. उसके बाद महाराष्ट्र (Maharashtra) में लॉक डाउन की घोषणा की गई. सभी लोग वापसी की योजना बना रहे थे, मगर एक बार फिर कोरोना (Corona virus) का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा कर दिया गया. इसके चलते ये परिवार उस्मानाबाद में ही रह गया. यहां उन्हें होम क्वारंटीन पर रहने की सूचना देकर उनके हाथों पर वैसी मुहर लगाई गई थी.

  अमेरिका में 80 साल के रिकॉर्ड स्तर पर बेरोजगारी

अधिकारी ने बताया कि घर में कुछ दिन बिताने के बाद परिवार के सदस्यों ने पुणे लौटने की इजाजत मांगी जिससे स्थानीय अधिकारियों ने इंकार कर दिया. उन्होंने पूरे रास्ते में पुलिस (Police) को चकमा देते हुए 400 किलोमीटर की दूरी तय कर ली लेकिन जैसे ही वे पुणे-मुंबई (Mumbai) हाइवे पर पहुंचे उनकी किस्मत दगा दे गई. वडगांव-तालेगांव फाटा में नकाबंदी के दौरान पुलिस (Police) ने वाहन को संदिग्ध देखकर पूछताछ की तो सारा मामला सामने आ गया. वाहन में दो पुरुष, चार महिलाएं और नौ नाबालिग समेत कुल 15 लोग सवार थे. पुलिस (Police) अधिकारी ने कहा कि हमने अब सभी लोगों को सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में रखा है. हालांकि अब क्वारंटीन अवधि पूरी होने के बाद मुकदमा चलाया जाएगा. आईपीसी की धारा 188 के तहत उल्लंघन करने पर दो साल तक जेल की सजा हो सकती है.

Please share this news