1027 प्रवासी श्रमिकों में मिले कोरोना वायरस के लक्षण, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8 हजार पार


लखनऊ (Lucknow) . विभिन्न राज्यों से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) लौट रहे प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों के आशा कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए सर्वेक्षण में 1027 प्रवासियों में कोरोना (Corona virus) के कोई ना कोई लक्षण पाए गए जिनके नमूने लेकर जांच कराई जा रही है. प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने सोमवार (Monday) को बताया कि आशा कार्यकर्ताओं ने 11,47,872 प्रवासी श्रमिकों का सर्वेक्षण किया जिनमें से 1027 प्रवासियों में कोरोना संक्रमण के कोई ना कोई लक्षण पाए गए.

  नेपाल के नए नक्शे का विरोध करने वाली सांसद सरिता को हटाया

उन सभी के नमूने लेकर जांच कराई जा रही है. उन्होंने बताया कि बीते 24 घंटे में राज्य में रिकॉर्ड 373 नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर आठ हजार को पार कर गई है.

प्रमुख सचिव ने बताया कि फिलहाल राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 8191 है. इसमें से 4891 लोग इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ होकर अस्पताल से घर जा चुके हैं. अभी कोरोना के 3083 एक्टिव पेशेंट हैं, जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है. उन्होंने बताया कि इस महामारी (Epidemic) की चपेट में आकर अबतक 217 लोगों की मौत हो चुकी है. प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट 59.71 प्रतिशत है. हमारी टीम इसे सुधारने का प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि रविवार (Sunday) को 8642 सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए थे.

  मैं चेतन देवड़ा, टीम उदयपुर का नया मेंबर : परिचय में ही प्रोत्साहन, समीक्षा के साथ दिया संवेदनशीलता का डोज़

उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु एप के माध्यम से मिले अलर्ट के आधार पर स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से 49,823 लोगों को फोन किया गया जिनमें से 127 लोगों ने बताया कि वे कोरोना संक्रमित हैं और उनका उपचार चल रहा है. फोन किए जाने पर 55 लोगों ने बताया कि वे उपचारित होकर अपने घरों को जा चुके हैं और 1489 लोगों ने बताया कि वे पृथक वास केंद्रों में रह रहे हैं. उन्होंने बताया कि 3141 लोग आइसोलेशन वार्ड में हैं जबकि 8472 लोग पृथक वास केंद्रों में रखे गए हैं.

Please share this news