हैड कॉन्स्टेबल को एसीबी ने साढे तीन हजार की घूस में पकड़ा


जयपुर (jaipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने दो दिन पहले ही वीडियो कॉन्फेसिंग स्थिति मालवीय नगर नए एसीबी भवन का उद्घाटन किया था तब कहा था कि प्रदेश में भ्रष्टाचार की शिकायतों में जीरो टॉरलेस पर लाना है इसके लिए भ्रष्टाचारियों को किसी भी सूरत (Surat) में बख्शा नहीं जायेगा. उसके दिन से ही एसीबी ने अपना भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को पकडऩे का अभियान चला रखा है. उदयपुर (Udaipur) में दूसरे दिन की कार्यवाही में सायरा थाने में तैनात हैड कॉन्टेबल शायर अली को 3500 रूपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

एसीबी एएसपी सुधीर जोशी ने बताया कि सायरा थाने में हैड कॉन्स्टेबल पड़ पर तैनात शायर अली ने पुनावली निवासी नरपत सिंह और भागवत सिंह और उनके साथियो के खिलाफ़ मारपीट का एक मामला थाने में दर्ज हुआ था इसके अनुसंधान में परिवादियों के साथियों के एफआईआर (First Information Report) से नाम हटाने के एवज में शायर अली ने 4000 रुपये के रिश्वत की मांग की थी, जिसकी शिकायत उन्होंने एसीबी कार्यालय में कर दी.

शिकायत के सत्यापन के दौरान हेड कॉन्स्टेबल ने 500 रुपये की रिश्वत परिवादीयों से ही ले लिए थे. वही शेष राशि आज देना तय हुआ. जिस पर एसीबी की टीम ने आरोपी हेड कॉन्स्टेबल को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथों ट्रैप कर लिया. इस दौरान एसीबी की टीम ने आरोपी के पेंट की जेब से रिश्वत के पैसे भी बरामद कर लिए.

Please share this news