हैंडपम्प का पानी बना काल, अब तक तीन की मौत

चित्तौडग़ढ़, 29 जुलाई (उदयपुर (Udaipur) किरण). जिले में बड़ीसादड़ी उपखंड की केवलपुरा ग्राम पंचायत के नयाखेड़ा में शनिवार (Saturday) को दूषित पानी से ऊल्टी दस्त की शिकायत के मामले में प्रशासन ने सैम्पल लेने के बाद हैंडपम्प को बंद करवा दिया है. शनिवार (Saturday) रात तक दूषित पानी से तीन जनों की मौत होने व 90 से अधिक के बीमार होने की बात सामने आई थी. चिकित्सा विभाग की टीम मौके पर तैनात है. रविवार (Sunday) को निम्बाहेड़ा व प्रतापगढ़ से भी चिकित्सक मौके पर भेजे गए. प्रशासन ने केवलपुरा ग्राम पंचायत क्षेत्र में डोर टू डोर सर्वे कराया है.

  भारतीय चिकित्सा पद्धतियों को बढ़ावा देगी सरकार : गहलोत

प्रतापगढ़ जिले की बॉर्डर पर स्थित केवलपुरा ग्राम पंचायत के नयाखेड़ा में शनिवार (Saturday) को ऊल्टी दस्त के मरीज बढ़े थे. वहीं ऊल्टी दस्त से महिला, बालिका सहित तीन जनों की मौत की सूचना के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया. केवलपुरा स्थित पीएचसी पर रोगियों को भर्ती किया जा रहा है. वहीं गंभीर रोगियों को बड़ीसादड़ी भेजा जा रहा है. अब तक कुल 90 मरीज ऊल्टी दस्त के सामने आए हैं. रविवार (Sunday) शाम तक बड़ीसादड़ी चिकित्सालय में केवल चार रोगी ही भर्ती है. शेष को छूट्टी दे दी गई है.

  कोटा से विद्यार्थियों को उनके घर पहुंचाने के लिए राजस्थान रोडवेज के बिल का यूपी सरकार ने किया भुगतान

रविवार (Sunday) सुबह नया खेड़ा से 108 और एम्बुलेंस से बड़ीसादड़ी सीएचसी में 35 लोगों को भर्ती कराया गया. मामले में पूर्व विधायक प्रकाश चौधरी ने सरकार (Government) से मरने वालो के परिवार को 5 लाख का मुआवजा और गंभीर हालत वालों को 50 हजार मुवावजा देने की सरकार (Government) से मांग की. इधर, विधायक गौतम दक व अन्य भाजपा पदाधिकारी भी मृतक परिवार से मिलने पहुंचे व उचित मुआवजा दिलाने के लिए आश्वासन दिया.

Please share this news