हत्या के आरोप में चार अभियुक्त को आजीवन कारावास

चित्तौडग़ढ़, 20 अगस्त (उदयपुर (Udaipur) किरण). अपर सेशन न्यायाधीश (judge) क्रमांक-2 चित्तौड़गढ़ महेन्द्र कुमार मेहता ने हत्या (Murder) के चार वर्ष पूराने एक प्रकरण में चार अभियुक्त को आजीवन कठोर कारावास की सजा सुनाई है. अपर लोक अभियोजक पूरणमल धाकड़ ने बताया कि 15 जून 2014 को जोगेन्द्र उर्फ भल्ला अपने मित्र मदनलाल जाट, इमरान व शाकीर के साथ चारण बस्ती के समीप से जा रहा था.

इस दौरान गौरव राठौर पुत्र बृजमोहन राठौर निवासी हनुमान मंदिर के पास चारण बस्ती रावतभाटा, अतुल पुत्र नंदलाल ठाकरे निवासी अमलनेर महाराष्ट्र (Maharashtra) हाल नया बाजार रावतभाटा, नितेशसिंह उर्फ मोनू पुत्र राधेश्याम राठौर, खेमा उर्फ खेमसिंह पिता पांचू सिंह रावत निवासी नया बाजार रावतभाटा ने मदन व जोगेन्द्र पर लाठियों से हमला कर दिया. इसमें मदन गंभीर घायल हो गया और जोगेन्द्र की मौके पर ही मृत्यु हो गई. रावतभाटा थाना पुलिस (Police) ने लाला कहार की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान कर चालान न्यायालय में पेश किया. सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से 18 गवाह व 36 दस्तावेज पेश किए. न्यायाधीश (judge) ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद प्रत्येक आरोपी को आजीवन कारावास व 5 हजार रूपए का अर्थदण्ड सुनाया. मृतक जोगेंद्र अपनी विधवा मां प्रेमबाई का इकलौता पुत्र था. उसके पिता की जन्म से पहले ही मृत्यु हो गई थी. मृतक का विवाह भी हत्या (Murder) के छह माह पूर्व ही हुआ था.

Please share this news