सीबीएसई ने असेसमेंट स्कीम के तहत जारी किए रिजल्ट, फेल शब्द भी हटाया


-स्कीम के बाद भी 400 स्टूडेंट्स के रिजल्ट अभी तक नहीं हो पाए हैं जारी, -फेल शब्द की जगह रिजल्ट कार्ड में किया गया ‘इसेंशल रिपीट’ टर्म का उपयोग

नई दिल्ली (New Delhi)) . कोरोना महामारी (Epidemic) के बीच सीबीएसई 12वीं बोर्ड के रिजल्ट आ चुके है. सीबीएसई ने यह रिजल्ट अपने कई सबजेक्ट के एग्जाम कैंसल करके एक असेसमेंट की एक स्कीम के तहत ही रिजल्ट जारी किए गए है. हालाकि इस स्कीम के आने के बाद भी 400 स्टूडेंट्स के रिजल्ट अभी तक जारी नहीं हो पाए हैं. यहां यह फल्लेखनीय है कि इस साल सीबीएसई ने रिजल्ट कार्ड से फेल शब्द को भी हटा दिया है. इस फेल शब्द के बजाय अब रिजल्ट कार्ड में ‘इसेंशल रिपीट’ टर्म का इस्तेमाल किया जाएगा.

  केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने किया इशारा, भारत में कोरोना की वैक्‍सीन उपलब्‍ध होने पर प्राथमिकता हेल्‍थ वर्कर्स को

इस स्कीम के तहत 12वीं स्टूडेंट्स ने बोर्ड के एग्जाम दिए थे, उनके रिजल्ट एगजाम के बेसिस पर तैयार किए गए हैं. जिन स्टूडेंट्स ने तीन से ज्यादा एग्जाम दिया है, उनका रिजल्ट तीन बेस्ट परफॉर्मेंस वाले सब्जेक्ट के मार्क्स को मिलाकर उसका ऐवरेज निकालकर रिजल्ट तैयार किया गया है. दूसरी और जिस भी स्टूडेंट्स ने केवल तीन ही एग्जाम दिए हैं उस तीन में से बेस्ट दो सब्जेक्ट के मार्क्स का ऐवरेज उन्हें उन सब्जेक्ट में दिया गया, जो कैंसल हो गए हैं. कई स्टूडेंट्स ऐसे भी हैं, जिन्होंने तीन और दो एग्जाम भी नहीं दिए हैं. ये स्टूडेंट्स ज्यादातर नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली से हैं, जिनके एगजाम दिल्ली के दंगों के कारण अटक गए थे. ऐसे स्टूडेंट्स का रिजल्ट उनकी परफॉर्मेंस और इंटरनल/प्रैक्टिकल/प्रोजेक्ट असेसमेंट के आधार पर तैयार किया जाएगा.

  प्रेमिका हुई प्रेग्‍नेंट तो प्रेमी ने खिलाई एबॉर्शन की गोली, मौत

12वीं के लिए ऑप्शनल एग्जामिनेशन की भी तैयारी:

जानकारी के मुताबिक सीबीएसई बोर्ड ने यह कहा कि अगर कोरोना से बिगड़े हालात में सुधार आता है तो सीसबीएसई क्लास 12वीं के लिए ऑप्शनल एग्जामिनेशन दोबारा करवा सकती है. केन्द्र सरकार (Government) के सलाह के मुताबिक एक शेड्यूल जारी किया जाएगा. ये एगजाम उन्हीं सब्जेक्ट के होंगे जो 1 से 15 जुलाई के बीच होने थे. यहां जो स्टूडेंट्स अपने रिजल्ट को सुधारना चाहते है केवल उन्हीं स्टूडेंट्स को एगजाम में बैठने की इजाजत दी जाएगी. हालांकि, ऑप्शनल एग्जाम के तहत जो फाइनल एगजाम का रिजल्ट आएगा उसको ही फाइनल माना जाएगा. कंपार्टमेंट एग्जाम के लिए भी सरकार (Government) की सलाह पर शेड्यूल जारी किया जाएगा.

  बाबुल सुप्रियो ने खुद को आइसोलेट किया, अमित शाह से मिले थे

डिजिटल लाकर में दिए जा रहे हैं सर्टिफिकेट:

बोर्ड ने बताया कि सभी स्टूडेंट्स को डिजिटल मार्कशीट, पासिंग और माइग्रेशन सर्टिफिकेट, स्किल सर्टिफिकेट डिजिलॉकर में दिए जा रहे हैं. अकाउंट की जानकारी स्टूडेंट्स को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के जरिए मैसेज किए जा चुके हैं. इन सर्टिफिकेट को स्टूडेंट्स डिजिलॉकर ऐप से जाकर आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं. जिन स्टूडेंट्स को दोबारा रीचेंकिंग और रीवैल्यूशन कराना है तो उसकी जानाकारी सीबीएसई जल्द अपने वेबसाइट पर जारी करेगी.

Please share this news