सरेराह छात्रा के अपहरण का प्रयास करने वाले की जमानत खारिज

प्रतापगढ़, 21 जुलाई (उदयपुर (Udaipur) किरण). एक सप्ताह पहले शहर में एक स्कूली छात्रा के सरेराह अपहरण का प्रयास करने के मामले में गिरफ्तार बदमाश का जमानत आवेदन शनिवार (Saturday) को सेशन कोर्ट ने खारिज कर दिया. कोर्ट ने इस मामले में गंभीर टिप्पणी की कि समाज में भय का माहौल पैदा करने वाले ऐसे लोग आजाद नहीं रहने चाहिए.
लोक अभियोजक तरुण दास वैरागी ने बताया कि रठांजना थाना पुलिस (Police) ने बीती ग्यारह जुलाई को स्कूली छात्रा के अपहरण का प्रयास करने ओर उसके बाप, भाई को गोली मारने की धमकी देने के मामले में साकरिया गांव के मोमीन खान पुत्र अली शेर को गिरफ्तार किया था. तभी से वह प्रतापगढ़ की जिला जेल में बंद है. शनिवार (Saturday) को जमानत के लिए उसके वकील की ओर से सेशन कोर्ट में आवेदन किया गया था. जिसको निरस्त करते हुए सेशन जज राजेन्द्र सिंह ने इस प्रकार के मामलों को गंभीर मानते हुए टिप्पणी की कि खुले आम छात्रा के अपहरण का प्रयास करना और उसके परिजनों को गोली मारने की धमकी देना चिंतनीय है. इससे समाज में राजकता का माहौल तैयार होता है, जिससे महिलाओं और बालिकाओं में भय व्याप्त होता है. जिसका सीधा असर उनके मनोबल पर पड़ता है. कोर्ट इस तरह के मामलों को गंभीरता से लेता है ओर आरोपी के जमानत आवेदन को निरस्त करता है.
मामले के अनुसार जिले के रठांजना थाना क्षेत्र के गादोला गांव की एक छात्रा अपने पिता के साथ ग्यारह जुलाई को शहर के एक कोचिंग सेंटर के लिए निकली थी. साकरिया के रहने वाले मोमीन खान ओर उसके एक साथी ने गांव से ही उनका पीछा करना शुरू कर दिया था. छात्रा के पिता ने उसको कोचिंग सेंटर पर छोड़ दिया था. कुछ समय बाद जब वापस वहां पहुंचे तो कोचिंग सेंटर के बाहर दोनों युवक उसको देख कर भाग गए. वह कोचिंग सेंटर पर गए तो उनकी लड़की रोती हुई मिली उसने बताया कि ये लड़के उसको जबरन अपने साथ ले जाना चाहते थे. उसके इनकार करने पर भाई और आपको गोली मारने की धमकी दे रहे थे. इसके बाद छात्रा के पिता की ओर से थाने में मामला दर्ज करवाया गया था. पुलिस (Police) ने कार्रवाई करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

Please share this news