सरकार के सहयोग से प्रवासी पहुंचे अपने घर, उदयपुर से अब तक 14 हजार 540 प्रवासियों को भेजा अपने घर


उदयपुर (Udaipur). कोरोना को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने व लॉक डाउन घोषित किये जाने के कारण उदयपुर (Udaipur) जिले में रह रहे अन्य राज्यों के प्रवासियांे को उनके गन्तव्य राज्यों तक पहुँचाने एवं अन्य राज्यों से उदयपुर (Udaipur) के प्रवासियों को वापस लाने का कार्य राज्य सरकार (Government) (State government) की मंशाओं के अनुरूप जिला कलक्टर (District Collector) श्रीमती आनंदी के निर्देशन में जिला प्रशासन की टीम द्वारा पूरे उत्साह के साथ किया जा रहा है. अब तक समन्वित प्रयासों से जिले में रह रहे 14 हजार 540 प्रवासियों को रेल और बसों के माध्यम से उनके घरों तक भेजा जा चुका है और इन प्रवासियांें को प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाएं बेहद रास आई हैं.

जिला कलक्टर (District Collector) श्रीमती आनंदी ने बताया कि गुरुवार (Thursday) तक उदयपुर (Udaipur) जिले से कुल 14 हजार 540 प्रवासियों को राज्य सरकार (Government) (State government) द्वारा निःशुल्क उनके गन्तव्य तक पहुँचाने की व्यवस्था की गई है. इसके तहत रेल मार्ग से 11 हजार 912 प्रवासियों को तथा बस मार्ग से 2 हजार 628 प्रवासियांें को उनके घरों तक पहुंचाया गया है. इन प्रवासियों को एक समय का भोजन तथा पानी राज्य सरकार (Government) (State government) द्वारा निःशुल्क उपलब्ध कराया गया है. यहीं नहीं बिहार एवं पश्चिमी बंगाल के प्रवासियों को भिजवाने हेतु 2 रेल की स्वीकृति अपेक्षित है जिनकी स्वीकृति उपरान्त उन्हें भी तदनुसार भिजवाने की व्यवस्थाएं की जायेगी.

  डॉ. सतीश शर्मा की खोज : उदयपुर में पहली बाद दिखा दुर्लभ प्रजाति का पहाड़ी बबूल

उन्होंने बताया कि उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखण्ड आदि राज्यों के प्रवासियों को रेल द्वारा एवं उत्तराखण्ड, हिमाचलप्रदेश एवं मध्यप्रदेश आदि राज्यों में बसों के द्वारा प्रवासियांे को भिजवाने की व्यवस्थाएँ सुनिश्चित कर प्रवासियों को उनके गन्तव्य तक जिला प्रशासन द्वारा पहुँचाया गया है.

यह है टीम उदयपुर (Udaipur) में प्रमुख अधिकारी: जिला कलक्टर (District Collector) ने बताया कि प्रवासियों को उनके घरों तक भेजने व वापस लाने के कार्य में अतिरिक्त जिला कलक्टर (District Collector) (प्रशासन) ओ. पी. बुनकर को नोडल अधिकारी, रेल संबंधित कार्यों के लिए नगर विकास प्रन्यास के सचिव अरूण हसीजा तथा सहयोग के लिए यूआईटी विशेषाधिकारी विनय पाठक,  जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा, रोडवेज मुख्य प्रबंधक महेश उपाध्याय, सूचना एंव प्रौद्योगिकी विभाग की प्रोग्रामर कम ऐनालिस्ट सुश्री शीतल अग्रवाल, कोषाधिकारी संदीप चारण को लगाया गया है. इसी प्रकार बड़गांव एसडीओ डॉ. मंजू, गिर्वा एसडीओ डॉ. सौम्या झा सहित सभी उपखण्ड अधिकारियों द्वारा भी इसमें सहयोग किया जा रहा है.

  अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने प्रताप जयंती की पूर्व संध्या पर ऑनलाइन काव्य गोष्ठी

निम्नानुसार प्रवासियों को भेजा गया है:

क्रसं दिनांक स्टेशन राज्य कुल यात्री बस/रेल
1 05.05.2020 मुजफ्फरपुर बिहार 1186 रेल
2 06.05.2020 मुजफ्फरपुर बिहार 1162 रेल
3 14.05.2020 गोरखपुर उत्तरप्रदेश 1434 रेल
4 17.05.2020 वाराणसी उत्तरप्रदेश 1422 रेल
5 18.05.2020 मुजफ्फरपुर बिहार 1442 रेल
6 18.05.2020 डाल्टनगंज झारखण्ड 967 रेल
7 19.05.2020 बस्ती उत्तरप्रदेश 1434 रेल
8 20.05.2020 प्रयागराज (Prayagraj)उत्तरप्रदेश 1419 रेल
9 21.05.2020 बरूनी बिहार 1446 रेल
योग रेल मार्ग 11912
10 10.05.2020 हरिद्वार (Haridwar) उत्तराखण्ड 429 18 बसें
11 20.05.2020 चित्तौड़गढ़ रेल्वेस्टेशन केरल 28 1 बस
12 20.05.2020 बिलासपुर (Bilaspur) हिमाचलप्रदेश 50 2 बसें
13 01.05.2020 क्वारेंटाईन शिविरार्थी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) 747 16 बस
14 19.05.2020 हरिद्वार (Haridwar) उत्तराखण्ड उत्तराखण्ड 108 बसों द्वारा
15 20.05.2020 झालावाड छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) 33 बस द्वारा
16 पिछले 15 दिनों में मध्यप्रदेश सीमा मध्यप्रदेश 1233 बसों द्वारा
योग बस 2628

  भूपाल नोबल्स फार्मेसी की रीनल जैन का राष्ट्रिय स्तर पर परचम

कुल योग 14540

Please share this news