सप्ताह का आखिरी दिन भारतीय शेयर बाजार के लिए भारी उतार-चढ़ाव बना रहा

मुंबई (Mumbai) . सप्ताह का आखिरी दिन भारतीय शेयर बाजार के लिए भारी उतार-चढ़ाव बना रहा. सेंसेक्स 801.04 अंक ऊपर तथा निफ्टी 307.65 पॉइंट ऊपर खुले. 11 बजे के बाद से बाजार बंद होने तक इसमें हल्का उतार-चढ़ाव रहा. बीएसई सेंसेक्स ने 131.18 अंक की गिरावट के साथ 29,815.59 पर तथा निफ्टी 18.80 अंक बढ़त के साथ 8,660.25 पर कारोबार बंद हुआ. रिजर्व बैंक (Bank) ऑफ इंडिया ने रेपो रेट में 0.75% की कटौती की है, इसके बाद भी बाजार में बढ़त देखने के स्थान पर बाजार गिरा. गुरुवार (Thursday) को सेंसेक्स ने 1410.99 अंक की बढ़त के साथ 29,946.77 और निफ्टी 323.60 अंक की बढ़त के साथ 8,641.45 पर कारोबार बंद हुआ था. कोरोनावायरस संकट के बीच आरबीआई (Reserve Bank of India) गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार (Friday) को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने रेपो रेट रेपो रेट में 0.75% की कटौती का ऐलान किया. रेपो रेट अब 5.15% से घटकर 4.4% हो गई है.

  बच्चे जब ट्यूशन पढ़ें तो रखें इन बातों का ख्याल

इससे सभी तरह के कर्ज सस्ते होंगे

रिजर्व बैंक (Bank) के गवर्नर ने कहा कि शेयर बाजारों में पिछले दिनों आई गिरावट से बैंकों के शेयर भी टूटे हैं लेना देने इसका ग्राहकों से कोई नहीं है. बैंकों में लोगों का पैसा सुरक्षित है. गवर्नर ने कहा देश कीआर्थिक व्यवस्था मजबूत है. कोरोनावायरस महामारी (Epidemic) के कारण अर्थव्यवस्था में आ रही गिरावट को रोकने के लिए अमेरिका 2 लाख करोड़ डॉलर (Dollar) भारतीय मुद्रा करीब 151 लाख करोड़ रुपए का राहत पैकेज जारी करने जा रहा है. पै

  उदयपुर से बिहार के लिए रवाना हुई प्रवासियों की ट्रेन

केज को लेकर भारतीय सरकार (Government) और ह्वाइट हाउस और सीनेट के बीच सहमति बन गई है. बीएसई में शामिल 13 कंपनियों में से ज्यादातर कंपनियों के शेयरों में गिरावट देखने को मिली रही. इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्रीज लिमिटेड (ITI) के एकमात्र शेयर में सबसे ज्यादा 6.65 प्रतिशत की बढ़त रही. रिजर्व बैंक (Bank) द्वारा अर्थ व्यवस्था को सुधारने बाजार में विशेष पैकिज घोषित किये जाने की अर्थ व्यवस्था को मजबूत बनाने की कोई घोषणा नहीं की. इससे बाजार में निराशा छाई. बाजार बैंद होने के पूर्व बिकवाली के दबाव में गिरावट देखने को मिली.

Please share this news