लापता बालक 2100 किमी दूर तमिलनाडु में मिला, चित्तौड़ लौटा

चित्तौड़गढ़. तमिलनाडु में लावारिस मिले बालक को बुधवार (Wednesday) को बाल कल्याण समिति ने उसके परिवार को सौंपा. जो कि वहां काम पर गया था, लेकिन मालिक की प्रताडऩा के कारण भाग गया.

समिति की अध्यक्ष डॉ सुशीला लढा ने बताया कि भिल्याखेड़ी निवासी 11 वर्षीय कमलेश भील के पिता दलीचंद व माता सीताबाई उसे लेने के लिए आए. समिति के सदस्य कालूलाल सुथार ने उनसे पूरी जानकारी ली. दलीचंद ने बताया कि बालक पढ़ने नहीं जाता था. खुद ही काम पर जाने की जिद करता था. इसलिए मैंने उसे परिचित के भरोसे उसे भेजा था. इसके लिए 1100 रुपए की पगार बताई पर सेठ ने उसे एक माह की पगार भी नहीं दी. समिति ने परिवार को बालक की पढ़ाई सुनिश्चित करने के लिए पाबंद किया.

The post लापता बालक 2100 किमी दूर तमिलनाडु में मिला, चित्तौड़ लौटा appeared first on .

Please share this news