रोडवेज की दो बसों के रास्ते में टायर फटे, एक घंटे तक सड़क पर अटकी रही बसें, यात्री हुए परेशान

चित्तौड़गढ़. रोडवेज बसों में टायरों की कमी यात्रियों (Passengers) पर भारी पड़ रही है. इस कारण बसें बीच रास्ते अटक रही है. दो महीने से टायरों की सप्लाई नहीं होने से आगार प्रबंधन को मजबूरन स्पेयर व्हील भी दूसरी बसों में लगाने पड़ रहे हैं. इस कारण टायर फटते ही कोई विकल्प नहीं बचता.

बुधवार (Wednesday) को भी चित्तौड़ आगार की दो बसों के टायर रास्ते में फट गए. टायर का विकल्प नहीं होने से एक घंटे तक यात्री भीषण गर्मी में परेशान होते रहे. कई परीक्षार्थी भी इन बसों में थे, जिन्हें देरी हुई. अकेले चित्तौड़ आगार की 93 में से 20 फीसदी बसों में स्पेयर व्हील नहीं है. प्रत्येक बस में हर समय सात टायर जरूरी होते है. इनमें से एक टायर स्पेयर व्हील कहलाता है ताकि किसी टायर के पंक्चर होने या फटने पर तत्काल बदला जा सके.

सूत्रों के अनुसार दो महीने से आगार को एक भी नए टायर की सप्लाई मुख्यालय से नहीं की गई. इस कारण अब स्पेयर व्हील भी उतारकर आवश्यकता वाली बसों में लगाए जा रहे हैं. ऐसे में बस के टायर फटने या पंक्चर होने के बाद कोई विकल्प नहीं रहता. नया टायर आने तक यात्रियों (Passengers) को इंतजार ही करना पड़ता है. या दूसरी बस में बिठाना पड़ता है.

The post रोडवेज की दो बसों के रास्ते में टायर फटे, एक घंटे तक सड़क पर अटकी रही बसें, यात्री हुए परेशान appeared first on .

Please share this news