राजस्थान के बूंदी में रामनवमी के कार्यक्रम में उमड़ी हजारों की भीड़, लाकडाउन का नहीं हुआ पालन


बूंदी . पूरा देश कोरोना की महामारी (Epidemic) से जूझ रहा है, लेकिन राजस्थान के बूंदी में अंधविश्वास का खेल हो रहा है. जहां सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई. लॉकडाउन (Lockdown) और राजस्थान सरकार (Government) की ओर से धारा 144 लगाने के बावजूद बड़ी संख्या में लोग एक जगह एकत्र हो गए. दरअसल हर साल की तरह इस बार भी नवरात्र पर आयोजित कार्यक्रम में लोग शामिल हुए जबकि इस बार लॉकडाउन (Lockdown) लगा हुआ था. शुक्रवार (Friday) को अंधविश्वास के खेल को देखने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोग 2 अलग-अलग संख्या में जमा हो गए थे. बूंदी जिले के रामनगर और लाखेरी कस्बे में अंधविश्वास के खेल के मामले में बूंदी के सदर थाना पुलिस (Police) ने अब तक 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

  सैनिटाइजर बनाने की फैक्ट्री में लगी भीषण आग

अंधविश्वास का खेल गली-गली चल रहा था, लोगों की भीड़ छतों से लेकर जमीन तक अटी हुई थी. लोग अंधविश्वास के कई करतब दिखा रहे थे और छतों से लेकर नीचे मकान क्या जमीन जहां जगह मिली वहां इस नजारे को देखने के लिए लोग इकट्ठे हो रहे थे. रामनगर में झंडा निकालने के दौरान यह दृश्य सामने आया था तो बूंदी के लाखेरी कस्बे में यह नजारा माताजी के मंदिर में देखा गया. जहां पुजारी को भाव आया और वहां पर लोगों की भीड़ जमा हो गई.

  4800 युवाओं ने एक साथ #राजस्थानी भासा ने राजस्थान री राजभाषा बणावो के साथ महाराणा प्रताप की भाषा को संवैधानिक मान्यता देने की मांग उठाई

मौके पर पहुंची पुलिस (Police) ने लोगों को वहां से खदेड़कर अपने-अपने घर जाने को कहा. इसके लिए पुलिस (Police) को मंदिर के पुजारी को भी समझाना पड़ा जो अंधविश्वास का खेल चला रहा था. हालांकि रामनगर में मामला थोड़ा अलग था और जहां सैकड़ों की संख्या में छत से लेकर जमीन तक लोगों की भीड़ दिखी. तलवार अर्ध नग्न होने के साथ ही यहां पर अंधविश्वास का खेल दिखा रहे थे. हालांकि इस मामले में सदर थाना पुलिस (Police) ने 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

Please share this news