पैदल चलें और रहें सेहतमंद, कम कर देता है स्ट्रोक का खतरा


रोज़ाना 80 मिनट तक पैदल सैर करने से बहुत से फायदे हैं इससे न सिर्फ शरीर में ऊर्जा बनी रहती है बल्कि यह काफी रोगों से छुटकारा पाने या रोगों को दूर रखने का तरीका भी है. जानें हर दिन पैदल चलने से आपको क्या-क्या फायदें होंगे.

पैदल चलना न केवल आपके पैसे बचाता है, बल्कि सेहत के लिए भी बेहद लाभदायक है. विशेषज्ञों के अनुसार, कुछ कदम पैदल चलने से कई तरह की बीमारियों से बचाव के अलावा मानसिक मजबूती भी मिलती है. बावजूद इसके, लोग थोड़ा-सा भी पैदल चलने से कतराते हैं. यहां तक कि ऑफिस, कॉलेज या शॉपिंग मॉल में सीढ़ियों की बजाय लिफ्ट का इस्तेमाल करते हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार, रोजाना 20 मिनट भी पैदल चला जाए, तो इससे बिगड़े हुए ग्लूकोज के स्तर को ठीक किया जा सकता है, साथ ही दिल की बीमारियों से भी बचा जा सकता है. आइए जानते हैं, पैदल चलने के फायदे:

कदम बढ़ाएं, दर्द भगाएं

विशेषज्ञों के अनुसार, यदि दिन में 80 मिनट भी पैदल चला जाए, तो घुटने, कूल्हे में दर्द से राहत के साथ ही टखनों या पैरों में आई जकड़न को दूर किया सकता है. इसके साथ ही हफ्ते में 80 मिनट तेज चलना चाहिए, क्योंकि इससे कई तरह की बीमारियां दूर की जा सकती हैं. एक अध्ययन के अनुसार, रोजाना दो हजार कदम चलने वाले लोगों में हार्ट अटैक से होने वाली मौतों में 10 प्रतिशत जोखिम कम पाया गया है. इस स्टडी को 6 साल तक किया गया और उसके बाद यह परिणाम निकला कि पैदल चलना सेहत के लिए बेहद लाभदायक है. “पैदल चलने से ब्रेन में सेरोटोनिन नामक केमिकल रिलीज होता है. इससे लोग मानसिक रूप से बेहतर होते हैं.”

  अजमेर, उदयपुर और आबू रोड़ स्थित यात्री आरक्षण केन्द्र (PRS) 18.00 बजे के बाद नही खुलेंगे

होगा ‘फील गुड’

जब रोजाना पैदल चलने की आदत बन जाती है, तो एंडोर्फिन नाम हार्मोन का रिसाव होता है, जिसे फील गुड हार्मोन कहा जाता है. इसके रिलीज होने से व्यक्ति के मूड में सुधार होता है और वह अच्छा महसूस करता है. साथ ही पेड़-पौधों के बीच चलने से ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रण में रखा जा सकता है.

  अगले 10 दिनों में चलेंगी 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेन, 36 लाख प्रवासी यात्रा करेंगे

उम्र में होता है इजाफा

डॉक्टर (doctor) कहते हैं कि व्यक्ति जितना ज्यादा पैदल चलता है, उसकी उम्र में इजाफा होता है. पैदल चलने से उम्र के ढलान पर पहुंचने के बावजूद इंसान शारीरिक रूप से मजबूत रहता है. इससे उनमें उम्र के साथ दिखने वाली समस्याओं का असर बेहद कम दिखता है. रोजाना पैदल चलने से सेहत बेहतर रहता है और उम्र बढ़ती है. “चलने से न केवल शरीर को मिलने वाले ऑक्सिजन की मात्रा में बढ़ोतरी होती है, बल्कि इसमें ढेर सारी कैलरी भी लगती है, जिससे मोटापा नियंत्रण में मदद मिलती है.”

पैदल चलेंगे, तो मोटापा भागेगा

वैसे तो मोटापा अपने आप में एक बीमारी है, लेकिन कई बीमारियों की वजह भी मोटापा है. बदलती जीवनशैली और फास्ट फूड पर बढ़ती निर्भरता के कारण तेजी से यह समस्या लोगों को अपनी जद में ले रही है. डॉक्टरों (Doctors) के अनुसार, मोटापा डायबीटीज, दिल के रोग, जोड़ों के दर्द की सबसे बड़ी वजह है. इसके अलावा, इसके कारण बढ़ती उम्र में अल्जाइमर तक की दिक्कत हो सकती है. डॉक्टर (doctor) बताते हैं कि पैदल चलने से मोटापा दूर होता है.

  वन विभाग ने किंग कोबरा को किया रेस्क्यू

कम कर देता है स्ट्रोक का खतरा

जो लोग रोजाना पैदल चलते हैं, उनमें ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बेहद कम हो जाता है, क्योंकि जो भी हम खाते हैं, पैदल चलने की वजह से वह पच जाता है और कैलरीज बर्न हो जाती है. स्ट्रोक उन लोगों को ज्यादा होता है, जो पैदल नहीं चलते या कोई एक्सरसाइज नहीं करते. ऐसे में वह जो भी खाते हैं, कोलेस्ट्रॉल धमनियों में जमा होने लगता है, जिसकी वजह से स्ट्रोक हो सकता है. “पैदल चलने से इंसान सेहतमंद रहता है. सुबह के वक्त पैदल चला जाए, तो इससे शरीर को विटामिन डी भी मिलता है.

Please share this news