पशु क्रूरता का मामला, बंदर को सबक सिखाने एक बंदर को जिंदा फांसी पर लटकाया


हैदराबाद . केरल (Kerala) में गर्भवती हथिनी को पटाखों वाला फल खिलाने की घटना ने पूरे देश को झकझोर दिया था.इसके बाद पशु क्रूरता की घटना तेलंगाना के खम्मम जिले में आई है. यहां कुछ लोगों ने बंदर को सबक सिखाने के लिए बंदर को फांसी पर लटा दिया. मामला तब सामने आया जब किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया (Media) में वायरल कर दिया.

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस (Police) ने केस दर्जकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. पुलिस (Police) ने बताया कि अम्मापालेम गांव में एक खेतों में सागौन के पौधे लगे थे. बंदरों का झुंड पेड़ों को आकर खराब कर दे रहा था.इसके बाद केयरटेकर सादू वेंकटेश्वर राव और दो अन्य लोगों ने तीन बंदरों को निशाना बनाया. उन्होंने पहले बंदरों को डंडे से पीटकर, बाकी बंदरों के झुंड को सबक सिखाने के लिए बंदर को फांसी के फंदे से जिंदा लटका दिया.

फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर ए वेंकटेश्वरलू ने बताया कि आरोपियों ने बंदरों को डंडे से जमकर पीटा. इस दौरान एक बंदर पानी की टंकी में फिसलकर गिर गया. वह पानी से निकलने की कोशिश करने लगा, लेकिन तीनों आरोपियों ने उस पकड़ लिया. पूछताछ में आरोपियों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया. हालांकि उनका दावा है कि उन्होंने बंदर को मरा समझकर फांसी के फंदे पर लटकाया था.

उन्हें लगा कि उसकी लाश देखकर बाकी बंदर नहीं आएंगे. रस्सी से लटकाने के बाद उन्हें पता चला कि वह जिंदा था. वायरल वीडियों में दिख रहा है कि पेड़ से लटके बंदर को दो कुत्ते लपकने की कोशिश कर रहे हैं. कुत्ते पेड़ पर चढ़कर बंदर को चबाने का प्रयास करते नजर आ रहे हैं. विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ वन्यजीव अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है.

Please share this news