न्यूयार्क पहुंचा 1000 बिस्तरों वाला नेवी का शिप, भर्ती कराए जाएंगे दूसरे रोगों से पीड़ित मरीज


न्यूयॉर्क . कोरोना (Corona virus) की त्रासदी के आगे सुपरपावर अमेरिका पस्त नजर आ रहा है. यहां सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आ ही चुके हैं, सोमवार (Monday) को एक दिन में 540 लोगों की मौत हुई, जो यहां अब तक की सबसे ज्यादा संख्या है. इस बीच सबसे बुरे हालात से गुजर रहे न्यूयॉर्क में नेवी का 1000 बेड वाला शिप भी पहुंच गया है, जिसका गवर्नर ऐंड्रू काओमो ने स्वागत किया है. अमेरिका में अब तक कोरोना के कारण मरने वालों की संख्या 3,170 पर पहुंच चुकी है. न्यू यॉर्क और न्यू जर्सी में लोगों ने हडसन नदी के किनारे खड़े होकर यूएस नेवी के शिप कंफर्ट को स्वागत किया.

  बच्चे जब ट्यूशन पढ़ें तो रखें इन बातों का ख्याल

यह एक कन्वर्टेड ऑइल टैंकर है, जिसे सफेद रंग से पेंट किया गया है और बड़ा सा लाल रंग का क्रॉस बनाया गया है. इसके साथ ही कई सपॉर्ट शिप्स और हेलिकॉप्टर भी आए हैं. इस शिप में ऐसे मरीजों का इलाज किया जाएगा, जिन्हें कोरोना (Corona virus) नहीं है, ताकि दूसरे अस्पताल और संसाधन वायरस के मरीजों के लिए खाली हो सकें. न्यूयॉर्क सिटी के मेयर बिल डि ब्लासियो ने इस माहौल को जंग जैसे हालात बताया है.

  विशेष रिपोर्ट: मेवाड़ ने दिखाई वन्यजीवों के पुनर्वास की अनूठी नज़ीर

गवर्नर ऐंड्रू काओमो ने इस शिप का स्वागत करते हुए ट्वीट किया. उन्होंने बताया शिप में 1000 बेड, 1200 मेडिकल स्टाफ, 12 ऑपरेशन थिअटर, लैब, फार्मेसी है. उन्होंने आश्वासन दिया है कि हर संभव प्रयास किया जाएगा जिससे हर जिंदगी को बचाया जा सके. इससे पहले ऐंड्रू ने बताया था कि कैसे सरकार (Government) ने 30,000 वेंटिलेटर्स की जगह सिर्फ 4,000 बेड्स भेजने की बात मानी है और बिना संसाधनों को लोगों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है.

  यूपी में आये कोविड-19 संक्रमण के 273 नये मामले

अमेरिका में दुनिया में सबसे ज्यादा 164,266 लोगों में संक्रमण फैल चुका है. सोमवार (Monday) को अकेले एक दिन में 540 लोगों की मौत होने के साथ ही देश में मरने वालों की संख्या बढ़कर 3,170 हो चुकी है. कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए अमेरिका के कई राज्‍यों ने आपातकाल घोषित कर दिया है. स्‍कूलों और बिजनस को बंद कर दिया गया है. लोगों को इस बात के लिए प्रोत्‍साहित किया जा रहा है कि वे सोशल डिस्‍टेंसिंग अपनाएं और खुद को अलग-थलग कर लें.

Please share this news